ताज़ा खबर :
prev next

बदहाल पड़े शौचालयों को नहीं कराया दुरुस्त, बगल में ही बनवा दिया नया सामुदायिक शौचालय

बदहाल पड़े शौचालयों को नहीं कराया दुरुस्त, बगल में ही बनवा दिया नया सामुदायिक शौचालय

गाज़ियाबाद। नगर निगम की अनदेखी आम जनता पर ही भारी पड़ रही है। स्वच्छता अभियान की बड़ी-बड़ी बाते करने वाला निगम अपने ही जाल में फंसता नजर आ रहा है। या फिर यूँ कहें कि नगर निगम शहर के विकास की सुध ले ही नही रहा है।

हमारा गाजियाबाद की टीम पिछले कई दिनों से आपको शहर में बने सार्वजनिक शौचालयों की यथा स्थिति से अवगत करा रही है। शौचालयों की यथा स्थिति के इस क्रम में हमने आपको बुलंदशहर रोड औद्योगिक क्षेत्र में बने करीब 4 सार्वजनिक शौचालयों की यथा स्थिति के बारे में बताया था। इन सबकी वर्तमान हालत इतनी जर्जर है कि आम लोग इसका उपयोग करने से भी कतराते हैं। हैरान करने वाली बात ये है कि नगर निगम ने अभी तक इन शौचालयों की तरफ कोई रुख नही किया है। न तो इन्हें देखने नगर निगम का कोई अधिकारी आया है और न ही इन्हें ठीक किया गया।

इसके उलट नगर निगम की अधिकारियों की अनदेखी इतनी बढ़ी कि इन सार्वजनिक शौचालयों को दुरुस्त कराने की बजाए इसी एरिया में दो नये सामुदायिक शौचालय खोल दिए गये हैं। सूत्रों के मुताबिक पता ये भी चला है कि ऐसे सामुदायिक शौचालय और भी बनाये जाने की योजना है। अचरज की बात ये है जिस स्थान पर ये शौचालय बनाये गये हैं उससे महज चंद कदम की दूरी पर वही सार्वजनिक शौचालय हैं जिनकी हालत जर्जर और दयनीय है। बता दें कि एक सामुदायिक शौचालय लोहा मंडी बनाया गया है और दूसरा अभी हाल ही में आरटीओ ऑफिस के बाहर बनाया गया है।

सोचने वाली बात ये भी है की जब कुछ ही दूरी पर सार्वजनिक शौचालय बने हुए हैं और चालू हालत में भी हैं तो इन सामुदायिक शौचालयों को बनवाने की क्या जरूरत पड़ी। यदि पहले से बने हुए सार्वजनिक शौचालयों की स्थिति दुरुस्त करा दी जाती तो भी आम जनता का भला हो सकता था।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।