ताज़ा खबर :
prev next

सुलझ गया सुल्लामल रामलीला का मामला, मंचन के लिए प्रशासन ने बनाई 10 सदस्यों की कमेटी

सुलझ गया सुल्लामल रामलीला का मामला, मंचन के लिए प्रशासन ने बनाई 10 सदस्यों की कमेटी

गाज़ियाबाद। प्रशासन ने जिले की ऐतिहासिक सुल्लामल रामलीला के मंचन का रास्ता निकाल लिया है। इसके लिए  प्रशासन द्वारा दोनों गुटों से 5-5 लोगों को चुनकर 10 सदस्यों  की कमेटी बनाई गई है। ये कमेटी रामलीला मंचन आदि का कार्य देखेगी। साथ ही इस कमेटी पर प्रशासन की भी एक कमेटी नजर रखेगी।

बता दें कि इस विवाद को सुलझाने के लिए एडीएम सिटी प्रीति जायसवाल की अध्यक्षता में बुधवार देर शाम तक बैठक चली। इसमें रामलीला के आयोजन के लिए रास्ता निकाला गया। बैठक में कमेटी के लिए जिन नामों पर सहमति बनी उनमें पूर्व सांसद सुरेंद्र प्रकाश गोयल, पूर्व विधायक सुरेंद्र कुमार मुन्नी, सुभाष चंद्र गुप्ता, ज्ञान प्रकाश गोयल, राजेंद्र कुमार मित्तल, वीरेंद्र कुमार गोयल, विनोद कुमार गर्ग बीनू, नरेश अग्रवाल, सुबोध गुप्ता और अशोक गोयल शामिल हैं।

एडीएम सिटी के अनुसार इन दस नामों की मंजूरी डीएम से गुरुवार को ली जाएगी। इसके बाद आगे की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। प्रशासन की कोशिश है कि यह रामलीला समय पर शुरू हो। वहीं हाईकोर्ट के आदेश पर चुनाव की प्रक्रिया रजिस्ट्रार की ओर से चलती रहेगी।

गौरतलब है कि सुल्लामल रामलीला कमेटी  के मंचन को लेकर दो ग्रुपों में वजूद को लेकर विवाद चल रहा था। दोनों ही ग्रुप अपने आपको असली बता कर रामलीला मंचन कराने के दावे कर रहे थे। दोनों के बीच का विवाद हाईकोर्ट तक पहुंच गया था। हाईकोर्ट ने इस मामले में 1 सितंबर को रजिस्ट्रार को आदेश दिया कि वह रामलीला कमेटी का चुनाव कराने के बाद परिणाम को हाईकोर्ट में पेश करे। जिसके कारण प्रशासन ने दोनों ही पक्षों को फैसला होने तक रामलीला मंचन कराने पर रोक लगा दी थी।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।