ताज़ा खबर :
prev next

कर्जमाफी के नाम पर किसानों से मजाक, 19 पैसे का किया लोन माफ़

कर्जमाफी के नाम पर किसानों से मजाक, 19 पैसे का किया लोन माफ़

लखनऊ | उत्तर प्रदेश में किसानों की कर्जमाफी एक बड़ा चुनावी मुद्दा थी और इसी वादे पर भारतीय जनता पार्टी ने यहाँ करोड़ों वोट बटोरे थे। राज्य की सत्ता सँभालने के बाद योगी आदित्यनाथ ने कर्ज माफ़ी की घोषणा तो की, मगर अब, जब यह स्कीम धरातल पर उतर रही है तो लग रहा है कि यह धरतीपुत्र किसानों के साथ मज़ाक से कुछ ज्यादा नहीं है।

इश्वर दयाल इटावा जिले के भरतना गाँव के छोटे से किसान हैं। किसान कर्ज माफ़ी की घोषणा के बाद वे काफी खुश थे मगर जब जिला प्रशासन के अधिकारियों ने उन्हें उनका ऋण मुक्ति प्रमाण पत्र दिया तो यह उनके लिए किसी सदमे से कम नहीं था। आपको यह जानकार आश्चर्य होगा कि भाजपा सरकार ने उनका जो लोन माफ़ किया, उसकी राशि सिर्फ 19 पैसे ही थी। वे ऐसे अकेले किसान नहीं है जिनके साथ यह मज़ाक हुआ है। इटावा जिले के दर्जनों ऐसे किसान हैं जिन्हें बहुत कम राशि के ऋण मुक्ति प्रमाण पत्र मिले हैं। राम नन्द नाम के एक किसान को ₹1.79 तो मुन्नी लाल को ₹2 के प्रमाण पत्र दी गए है।

हमने जब किसानों से बात की तो पता चला की करीब 50 किसान ऐसे हैं जिन्हें ₹100 से कम के ऋण मुक्ति प्रमाण पत्र मिले हैं जबकि 200 किसान ऐसे हैं जिनकी ₹1000 से कम की धनराशि माफ़ हुई है। अब इसे सरकारी अधिकारियों की अनदेखी कहें या कुछ और मगर जाहिर तौर पर उत्तर प्रदेश सरकार की यह कर्जमाफी स्कीम बहुत से किसानों के जख्मों पर मरहम लगाने कि बजाए नमक छिड़कने का काम ही कर रही है।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।