ताज़ा खबर :
prev next

निर्मल हिंडन अभियान : हिंडन को पुनर्जीवित करने के लिए हिंडन कोष में करें सहयोग- मंडलायुक्त (मेरठ)

निर्मल हिंडन अभियान : हिंडन को पुनर्जीवित करने के लिए हिंडन कोष में करें सहयोग- मंडलायुक्त (मेरठ)

मेरठ। मंडलायुक्त डॉ प्रभात कुमार ने निर्मल हिण्डन के कार्यों की समीक्षा बैठक की। मंडलायुक्त ने निर्मल हिंडन योजना के जिम्मेदार अधिकारियों को हिण्डन नदी के पुनरोद्धार के लिए किये जाने वाले कार्यों का वर्कप्लान बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने गांवों की जानकारी इकठ्ठा करने के लिये 20 बिन्दुओं का ग्राम सर्वे प्रारूप बनाया। साथ ही अधिकारियों से ‘निर्मल हिण्डन‘ के कार्यों में तेज़ी लाने व हिण्डन नदी के महत्व को दिखाते हुए एक डॉक्यूमेंट्री बनाने को कहा। उन्होंने मंडल के आमजन से निर्मल हिण्डन कोष में सहयोग देने की अपील की।

मंडलायुक्त ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि, जिन औद्योगिक इकाईयों का ड्रेनेज काली (ईस्ट) या हिण्डन में गिरता है, ऐसी इकाईयों का चिन्हीकरण करें। साथ ही सुनिश्चित करें कि ऐसे उद्योग आवश्यक रूप से प्रदूषण नियंत्रण विभाग से एनओसी प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि, हिण्डन से लगे गांवों में प्रत्येक ग्राम में हिण्डन कितनी सीमा में बह रही है, इसका खाका तैयार किया जाये तथा पिछले 5 वर्षों में हिण्डन पर जो-जो कार्य किये गये हैं, उनकी भी रिपोर्ट दी जाए।

आयुक्त ने कहा कि हिंडन के किनारे के जिन गांवों के नालों का पानी हिण्डन में गिर रहा है, उसकी सूचना इकट्ठी करें तथा ग्रामों में तालाबों की सूची व उसकी वर्तमान स्थिति की रिपोर्ट सौंपे। हिंडन के किनारे के गांवों में ओडीएफ की वर्तमान स्थिति तथा हिण्डन नदी के किनारे किये गये व किये जा रहे अवैध कब्जों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्यवाई करने के निर्देश दिए।

मंडलायुक्त डॉ प्रभात कुमार ने मंडलायुक्त सहारनपुर को निर्मल हिंडन में सहयोग करने के लिए एक पत्र लिखा है। जिसमें कहा है कि, वह राजस्व, पुलिस, सिंचाई व वन विभाग की एक टीम बनवाकर हिण्डन के उद्गम से लेकर समाप्ति स्थल के वास्तविक स्थानों का चिन्हीकरण करवाएं। साथ ही यह टीम हिंडन के उद्गम स्थल से निकलने वाला पानी कहां-कहां हिंडन में मिलता है, इसका चिन्हींकरण करें।

बैठक में अपर ज़िलाधिकारी (प्रशासन) सत्य प्रकाश पटेल, संयुक्त नगर आयुक्त, नगर निगम, गाज़ियाबाद अरूण कुमार गुप्ता, क्षेत्रीय प्रदूषण नियंत्रण अधिकारी आरके त्यागी, सिंचाई विभाग के अधीक्षण अभियन्ता एचएन सिंह, नीर फाउण्डेशन के निदेशक रमनकान्त व वर्कप्लान कमेटी के सदस्य डा जितेन्द्र चिकारा व धर्मवीर कपिल मौजूद रहे।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।