ताज़ा खबर :
prev next

मेरठ की इनर रिंगरोड के लिए मंडलायुक्त ने शासन से की धनराशि की माँग

मेरठ की इनर रिंगरोड के लिए मंडलायुक्त ने शासन से की धनराशि की माँग

मेरठ। उत्तर प्रदेश सरकार प्रदेश के विकास के लिये कई तरह की योजनायें चला रही है। जिनसे आम जन को लाभ मिल रहा है। मेरठ में इनर रिंग रोड का निर्माण इन्हीं में से एक है। 34.380 किमी लम्बी व 45 मीटर चौड़ी इनर रिंग रोड का निर्माण 2 चरणों में पूरा होना है।

पहले चरण में भूमि-अधिग्रहण के लिये मंडलायुक्त डॉ प्रभात कुमार ने शासन से 160.602 करोड़ देने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि, मेरठ में रिंग रोड की अत्यन्त आवश्यकता है, इनर रिंग रोड का निर्माण हो जाने से शहर का ट्रैफिक लोड कम होगा, जिससे यातायात प्रबन्धन में सहायता मिलेगी तथा आमजन को सुविधा होगी।

मंडलायुक्त ने बताया कि इनर रिंग रोड की कुल प्रस्तावित लम्बाई 34.380 किमी है। इसका निर्माण दो चरणों में किया जाना प्रस्तावित है। जिसमें पहले चरण में 15.050 किमी तथा दूसरे चरण में 19.330 किमी निर्माण होना है। प्रथम चरण में 4.100 किमी का निर्माण मेरठ विकास प्राधिकरण तथा आवास विकास परिषद् द्वारा निर्माणाधीन है, शेष 10.950 किमी का निर्माण लोक निर्माण विभाग द्वारा किया जाना प्रस्तावित है। आयुक्त ने बताया कि पहले चरण में होने वाले निर्माण की कुल लागत 3,75,92 करोड़ रुपये है।

मंडलायुक्त ने बताया कि, इनर रिंग रोड के निर्माण के अन्तर्गत दो फ्लाई ओवर जिसमें एक मेरठ से परतापुर मार्ग व दूसरा मेरठ से हापुड़ रोड पर बनाया जाएगा। साथ ही दो आरओबी भी बनायें जायेंगे जिसमें एक दिल्ली-मेरठ रेलवे लाइन पर तथा दूसरा मेरठ-हापुड़ रेलवे लाइन पर बनाया जाएगा।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।