ताज़ा खबर :
prev next

फर्जी दस्तावेजों पर तैयार किये गए 94 हजार राशन कार्ड

फर्जी दस्तावेजों पर तैयार किये गए 94 हजार राशन कार्ड

गाज़ियाबाद।  राशन कार्ड पर वितरित खाद्यान्न में बड़ा खेल हुआ। सुविधा संपन्न लोगों के नाम पर व्यापक पैमाने पर राशन कार्ड बनाए गए, जिन पर हर महीने सस्ते दर पर खाद्यान्न उठाया गया। करोड़ों रुपये के इस घोटालों में विभागीय भूमिका से भी इंकार नहीं किया जा सकता है, क्योंकि उन्होंने कभी राशन कार्ड के भौतिक सत्यापन की जहमत नहीं उठाई, जिसके चलते राशन कार्ड बनने का सिलसिला जारी रहा है। शुरूआती जांच में साफ हो चला है कि ग्रामीण क्षेत्र से लेकर शहर क्षेत्र में बड़ी संख्या में राशन कार्ड धारकों को खाद्यान्न नहीं मिला, लेकिन उनके नाम पर हर महीने खाद्यान्न की आपूर्ति होती रही।

94 हजार से अधिक राशन कार्ड गाजियाबाद में निरस्त किए गए हैं, जो सुविधा संपन्न लोगों के बनाए गए थे। इतनी बड़ी संख्या में राशन कार्ड निरस्त होने पर विभाग आगे की जांच में लगा है। शासन के निर्देश पर चल रही जांच में यह जानने की कोशिश की जा रही है कि निरस्त किए गए राशन कार्ड पर वितरित दिखाया गया खाद्यान्न उन संबंधित व्यक्ति को मिला या नहीं, जिनके नाम पर राशन कार्ड बने थे।

जानकारी के मुताबिक अभी तक की जांच से पता चला है कि राशन डीलरों के स्तर पर सबसे ज्यादा खेल हुआ है। वास्तविकता में खाद्यान्न बड़ी संख्या में संबंधित लोगों तक पहुंचा ही नहीं है, लेकिन उनके नाम पर सस्ते गल्ले की गेहूं, चीनी व चावल डीलरों ने हर महीने बेचा हुआ दिखाया है। जबकि दूसरी सच्चाई यह भी है कि खाद्यान्न को बाजार में बेच कर भारी कमाई की, जिसमें विभागीय अधिकारियों की भूमिका से किसी भी सूरत से इंकार नहीं किया जा सकता है।

जांच में यह भी पता चला है कि बड़ी संख्या में राशन कार्ड फर्जी दस्तावेज के आधार पर बनाए गए। ऐसी स्थिति में उन सभी डीलरों पर शिकंजा कसने की तैयारी है, जिनके क्षेत्र के सबसे ज्यादा राशन कार्ड निरस्त हुए हैं। उधर, जिला आपूर्ति अधिकारी सुनील सिंह का कहना है कि जांच की जा रही है। जांच रिपोर्ट पर शासन स्तर से जो भी निर्देश मिलेंगे उनका पालन किया जाएगा।

बता दें कि खाद्यान्न वितरण में होने वाले खेल को रोकने के लिए करीब चार महीने पहले प्रदेश सरकार ने राशन कार्ड से आधार नंबर से लिंक किए जाने और सभी का भौतिक सत्यापन कराने का आदेश दिया। इसके बाद गाजियाबाद में 139 टीमों की सत्यापन रिपोर्ट पर 94 हजार से अधिक राशन कार्ड को निरस्त कर दिया गया।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By सत्याभा : Tuesday 23 जनवरी, 2018 23:24 PM