ताज़ा खबर :
prev next

पारिवारिक कलह से परेशान बिहार के आईएएस ने गाज़ियाबाद में की आत्महत्या

पारिवारिक कलह से परेशान बिहार के आईएएस ने गाज़ियाबाद में की आत्महत्या

बिहार। बक्सर जिले के जिलाधिकारी डीएम मुकेश कुमार पांडेय ने गुरुवार को यूपी के गाजियाबाद में आत्महत्या कर ली। उनका शव गुरुवार की देर शाम गाजियाबाद स्टेशन के पास ट्रैक पर मिला। गुरुवार को मुकेश के ससुर ने सरोजिनी नगर पुलिस स्टेशन में उनके लापता होने की रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी।

बिहार के बक्सर जिले के डीएम मुकेश पांडे बुधवार देर रात बक्सर से दिल्ली के लिए निकले थे। जानकारी के मुताबिक दिल्ली आने के पीछे उन्होंने वजह बताई थी कि उनके मामा को हार्ट अटैक आया है। दिल्ली पहुंचने के लगभग 14 घंटे बाद मुकेश पांडे ने ट्रेन के आगे कूदकर खुदकुशी कर ली। मुकेश पांडेय ने वाट्सएप के जरिये घर में यह संदेश भेजा था कि मैं अपनी जिंदगी से तंग आकर आत्महत्या करने जा रहा हूं। मेरा अच्छाई पर से विश्वास उठ गया है। मैं आप सबको बहुत प्यार करता हूं। संदेश में उन्होंने लिखा था कि मैं दिल्ली के जनकपुरी स्थित डिस्ट्रिक्ट सेंट्रल मॉल की दसवीं मंजिल से छलांग लगाकर आत्महत्या करने जा रहा हूं। मेरा सुसाइड नोट दिल्ली के लीला पैलेस होटल के कमरा नंबर 742 में मेरे बैग में रखा हुआ है।

मुकेश ने शाम छह बजे घरवालों को व्‍हाट्सप किया था कि वे दिल्ली की एक इमारत से छलांग लगा आत्महत्या करने जा रहे हैं। घरवालों ने तुरंत इसकी सूचना दिल्ली पुलिस को दी। दिल्ली पुलिस जब तक कुछ कर पाती तब तक मुकेश पांडेय गाजियाबाद चले गए और ट्रेन से कटकर जान दे दी। पुलिस सूत्रों की मानें तो मुकेश के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें उन्होंने अपनी मर्जी से खुदकुशी करने की बात लिखी है। सुसाइड नोट में चार फोन नंबर भी लिखे हुए हैं। यह सभी नंबर परिवार वालों के हैं। सुसाइड नोट में एक जगह लिखा है कि विस्तृत सुसाइड नोट बैग में है। लीला होटल के कमरा नंबर 742 से मिले सुसाइड नोट में लिखा है कि ‘मैं अपनी पत्नी और अपने मां-बाप के बीच हो रहे झगड़े से बेहद परेशान हूं, इस वजह से यह कदम उठा रहा हूं।’ मुकेश की 3 महीने की एक बच्ची है।

पुलिस के मुताबिक, सबसे पहले वो शाम 6 बजे दिल्ली के जनकपुरी स्थित डिस्ट्रिक्ट सेंटर खुदकुशी करने पहुंचे। यहां पर उन्होंने परिजनों को व्हाट्सएप करके खुदकुशी करने की जानकारी दी। इसके बाद आनन-फानन में पुलिस वहां पहुंची तो मुकेश पांडे अपना फोन होटल में छोड़कर गायब हो गए। रात करीब साढ़े आठ बजे गाजियाबाद में रेलवे ट्रैक पर उनका शव बरामद हुआ। बताते चलें कि आइएएस अधिकारी मुकेश कुमार पांडेय को 31 जुलाई को बक्सर का डीएम बनाया गया था। बतौर जिलाधिकारी यह उनकी पहली पदस्थापना थी। इसके पहले वह बेगूसराय के बलिया अनुमंडल में एसडीएम व कटिहार में डीडीसी के पद पर सेवा दे चुके थे। मुकेश पांडेय तेज तर्रार, बेदाग और कड़क अफसर थे। UPSC परीक्षा 2012 में 14वीं रैंक लाने वाले मुकेश पांडे को साल 2015 में संयुक्त सचिव रैंक में प्रमोशन मिला था। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।