ताज़ा खबर :
prev next

राजनीतिक उथल पुथल के बाद बीजेपी के सहयोग से नितीश कुमार फिर से बने मुख्यमंत्री

राजनीतिक उथल पुथल के बाद बीजेपी के सहयोग से नितीश कुमार फिर से बने मुख्यमंत्री

पटना। बिहार की राजनीति में मचे घमासान के बाद आखिरकार नितीश कुमार ने इस्तीफ़ा दे दिया। नितीश के इस्तीफे के साथ ही महागठबंधन का भी अंत हो गया। लेकिन राजनीति में कौन सा सिक्का कब पलट जाये कुछ कह नहीं सकते। भाजपा के सहयोग से जनता दल (युनाइटेड) के नेता नीतीश कुमार ने एक बार फिर मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ बनने वाली उनकी सरकार को राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी सुबह 10 बजे शपथ दिलाई। जेडीयू सुप्रीमो ने छठवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेकर रिकॉर्ड बनाया है। नीतीश कुमार के बाद बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने राज्य के डिप्टी सीएम पद की शपथ ली। गुरुवार को हुए शपथ ग्रहण सामरोह में दो ही नेताओं ने शपथ ली।

बुधवार की शाम नीतीश के इस्तीफा के बाद 20 महीने से चल रही महागठबंधन की सरकार गिर गई थी। इसके बाद बुधवार की देर रात नीतीश कुमार को जद (यू) और भाजपा संयुक्त विधायक दल का नेता चुन लिया गया। नीतीश ने देर रात ही नई सरकार बनाने का दावा पेश किया। राज्यपाल ने उन्हें नई सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया।

बुधवार रात नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मिलकर भाजपा, जद (यू), हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी, लोक जन शक्ति पार्टी के विधानसभा सदस्यों के अतिरिक्त दो निर्दलीय विधानसभा सदस्यों सहित कुल 131 विधायकों के समर्थन का पत्र प्रस्तुत किया था। इसके बाद राज्यपाल ने नीतीश को सरकार बनाने का न्योता दिया।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।