ताज़ा खबर :
prev next

ठेला पटरी हटाने से पहले देना होगा 30 दिन का नोटिस, जल्द ही गाज़ियाबाद में लागू होगा कानून

ठेला पटरी हटाने से पहले देना होगा 30 दिन का नोटिस, जल्द ही गाज़ियाबाद में लागू होगा कानून

गाजियाबाद | नए नियमों के तहत ठेला पटरी वालों हटाने से पहले नगर निगम को 30 दिन का लिखित नोटिस देना होगा। लेकिन अगर दुकानदार इस नोटिस पीरियड के दौरान अपना सामान नहीं हटाते हैं, तो निगम को उनका सामान जब्त करने का अधिकार होगा।

पथ विक्रेता (जीविका संरक्षण और पथ विक्रय विनियमन) अधिनियम, 2014 के अनुसार नगर पथ विक्रय समिति शहरी सीमा में आने वाले सभी ठेला-पटरी विक्रेताओं और साप्ताहिक दुकानदारों के लिए लाइसेंस जारी करेगी। इस समिति का गठन गाज़ियाबाद नगर निगम द्वारा किया जायेगा। इस समिति में ठेला-पटरी दुकानदारों के प्रतिनिधि भी होंगे। समिति शहर के सभी इलाकों का सर्वेक्षण करने के बाद ठेला-पटरी और साप्ताहिक बाज़ारों के लिए उचित स्थानों का चयन करेगी। सभी विक्रेताओं को केवल निश्चित स्थानों और एक तय शुदा समय के अनुसार सड़क पर दुकान लगाने की ही अनुमति होगी। समिति तीन प्रकार के दुकानदारों के लिए लाइसेंस जारी करेगी जिनमें गली-गली घूमकर सामान बेचने वाले, अस्थाई खोखे आदि लगाकर सामान बेचने वाले व साप्ताहिक बाज़ारों में सामान बेचने वाले शामिल होंगे। इस समिति का गठन 15 जुलाई 2017 तक होने की संभावना है।

15 अगस्त तक हो जायेगा स्थानों का चयन

नगर पथ विक्रय समिति 15 अगस्त तक गाज़ियाबाद नगर निगम के सभी जोन्स कर सर्वेक्षण कर ठेला पटरी वालों के लिए उचित स्थान का चयन कर लेगी। साथ ही यह समिति उन स्थानों का भी चयन करेगी जहाँ ठेला पटरी लगाना पूर्णतः प्रतिबंधित होगा। ऐसे क्षेत्रों को “पथ-विक्रय रहित परिक्षेत्र” घोषित किया जायेगा। यह समिति शहर के विभिन्न इलाकों में लगने वाले साप्ताहिक बाज़ारों के लिए भी निश्चित स्थान, दिन, समय और दुकानदारों का चयन भी करेगी।

ठेला पटरी वालों की जिम्मेदारियां

इस कानून के तहत ठेला पटरी विक्रेताओं के लिए कुछ जिम्मेदारियां भी तय की गई हैं। उन्हें शहर की सीमा में एक निश्चित स्थान पर, निश्चित दिन और समय के अनुसार ही दुकान लगाने के लिए लाइसेंस दिए जायेंगे। यदि वे लाइसेंस में दर्शाए स्थान से संतुष्ट नहीं है, तो उन्हें नया स्थान दिया जायेगा मगर इसके साथ ही उनका पुराने स्थान से अधिकार ख़त्म हो जायेगा।

इसके अलावा अस्थाई दुकानों के लाइसेंस धारकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि वे जहाँ भी अपनी दुकान लगा रहे हैं, वहां से हर दिन एक निश्चित समय के बाद अपना सामान हटा लें। पैदल या रिक्शा आदि में घूम कर सामान बेचने वालों को पुल, फ्लाईओवर या भीड़-भाड़ वाले इलाकों में दुकान लगाने की अनुमति नहीं होगी।

खोखे के लिए मिलेगा 2×2 मीटर का स्थान

कानून के तहत समिति अस्थाई खोखा लगा कर दुकान चलाने के लिए प्रत्येक दुकानदार को अधिकतम 2×2 मीटर स्थान देगा। इस स्थान का चयन समिति के सभी सदस्य मिल कर करेंगे। दुकानदार की जिम्मेदारी होगी कि उसकी दुकान से न तो उस स्थान का यातायात प्रभावित हो और न ही किसी घर में आने-जाने के रास्ते में रूकावट आये।

जगह की साफ़ सफाई के लिए दुकानदार होगा जिम्मेदार

हर लाइसेंस धारक की जिम्मेदारी होगी कि वह अपनी दुकान और उसके आस-पास के क्षेत्र को साफ़ सुधरा रखें। इसके लिए उसे निगम के सफाई कर्मचारियों का सहयोग भी करना होगा। दुकानदार की जिम्मेदारी होगी कि वह हर दिन दुकान बंद करने के बाद अपनी दुकान का सारा कचरा समीप के कूड़ेदान में डालकर आये।

आने वाले दिनों में हम आपको पथ विक्रेता (जीविका संरक्षण और पथ विक्रय विनियमन) अधिनियम, 2014 से सम्बंधित अन्य नियमों के बारे में जानकारियां देते रहेंगे। एक जिम्मेदार न्यूज़ पोर्टल होने के नाते हम गाज़ियाबाद को एक बेहतर शहर बनाने में आपके सहयोग की भी अपेक्षा रखते हैं।

(हमारा गाज़ियाबाद के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.) यदि आप व्हाट्स एप के माध्यम से गाज़ियाबाद की ख़बरें पाना चाहते हैं तो इस लिंक पर क्लिक कर आप हमारे ग्रुप्स से जुड़ सकते हैं. https://goo.gl/ho2rbI