ताज़ा खबर :
prev next

मेरठ में खुली भारत की पहली हेपेटाइटिस सी की निःशुल्क क्लीनिक

मेरठ में खुली भारत की पहली  हेपेटाइटिस सी की निःशुल्क क्लीनिक

मेरठ। हेपेटाइटिस सी के लिये अत्याधुनिक प्वाइंट ऑफ केयर डायग्नोस्टिक जेन एक्सपर्ट सहित नवीनतम दवायें उपलब्ध कराने के लिये भारत की पहली हेपेटाइटिस क्लीनिक का उद्घाटन पीएल शर्मा जिला अस्पताल में आयुक्त डा प्रभात कुमार ने किया। देश में हेपेटाइटिस पर केन्द्रित यह क्लीनिक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के सहयोग से अन्तर्राष्ट्रीय चिकित्सकीय मानवतावादी संगठन मेडिसिस सैंस फ्रटियरेस (एमएसएफ) द्वारा संचालित किया जाएगा।

क्लीनिक का उद्घाटन करते हुए आयुक्त डा प्रभात कुमार ने कहा कि, चिकित्सकों एवं क्लीनिक संचालकों को मुख्यतः ऐजेन्ट, होस्ट व एनवायरमेंट को डिसकनेक्ट करने की आवश्यकता है। उन्होने क्लीनिक का व्यापक प्रचार प्रसार कराने के लिये कहा ताकि आमजन इसका लाभ ले सके।

इस मौके पर मौजूद प्रमुख अधीक्षक जिला अस्पताल डा पीके बंसल ने कहा कि, ‘हैपेटाइटिस सी’ एक वायरल बीमारी है जो लिवर संक्रमण पर आधारित है, इसके अलग-अलग प्रकार होते हैं तथा इसकी कोई वैक्सीन नहीं है। परियोजना का उद्देश्य देखभाल का एक समग्र मॉडल विकसित करना है जिसमें परामर्श, स्वास्थ्य, शिक्षा और स्थानीय स्वास्थ्य श्रमिकों की क्षमता निर्माण के पहलू शामिल हैं।

एमएसएफ की प्रोजेक्ट कोर्डीनेटर गाड़ा खेमीसी ने बताया कि, एमएसएफ वर्ष 1999 से भारत में कार्य रहा है। वर्तमान समय में भारत में लगभम 12 मीलियन लोग हेपेटाइटिस सी से पीड़ित है। एमएसएफ को वर्ष 1996 में शान्ति, निरस्त्रीकरण और विकास के लिये इंन्दिरा गांधी पुरस्कार और वर्ष 1999 में नोबल शान्ति पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

उन्होंने बताया कि एफएसएफ के द्वारा दूर-दराज के इलाकों में लोगो को निशुल्क आवश्यक स्वास्थ्य सेवायें और एचआईवी, कुपोषण, हेपेटाइटिस सी, आदि बीमारियों के लिये विशेषज्ञ से देखभाल उपलब्ध करायी जाती है। एमएसएफ के मेडिकल कोर्डीनेटर स्टोप्डैन कालोन ने बताया कि, जिला अस्पताल के क्लीनिक में 16 लोगो का स्टाफ कार्यरत है, जिसमें तीन डाक्टर तीन काउंसलर व अन्य स्टाफ शामिल हैं। बीमारी से जुड़ी खून व अन्य बड़ी जाचें सेन्ट्रल लैब दिल्ली में करायी जाती है।

अब तक करीब 2875 लोगो की काउसलिंग की गयी, 839 की स्क्रीनिंग की गयी तथा 539 को डायगनोस किया गया है। इस अवसर पर अपर निदेशक स्वास्थ्य मंजू वैश्य शर्मा, आरडी गुप्ता, एमएसएफ के प्रोजेक्ट मैडिकल अफ़सर मार्वी डूका सहित अन्य चिकित्सकगण उपस्थित रहे।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By दुर्गेश तिवारी : Monday 22 जनवरी, 2018 11:52 AM