ताज़ा खबर :
prev next

गरीब बच्चों को पढ़ाकर आयशा कर रही हैं ख़ुदा की इबादत

गरीब बच्चों को पढ़ाकर आयशा कर रही हैं ख़ुदा की इबादत

मेरठ । हम सभी ने भारत में विविधता में एकता के अनेकों किस्से सुने है, ऐसे ही किस्सों में शामिल हो चुकी है हमारे क्षेत्र की आयशा। समाज के नीचले तबके के बच्चों को शिक्षा देने वाली आयशा किसी मिसाल से कम नहीं है। मेरठ में गरीब बच्चों की जिन्दगी संवारने और उन्हें शिक्षा देने का बीड़ा उठाने वाली में मेरठ की यह बेटी आयशा न सिर्फ खुद पढ़ रही हैं, बल्कि गरीब बच्चों को निशुल्क पढ़ाने का काम कर रही है। जानकारी के अनुसार आयशा झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वालों मज़दूरों के बच्चों मुफ्त में शिक्षा देती हैं। मेरठ के इस्माइल कॉलेज से बीए कर रही आयशा ने अपने मोहल्ले में ऐसी मुहिम छेड़ दी है कि स्कूलों में भले ही इन बच्चों को दाखिला न मिला हो, लेकिन वो शिक्षा से वंचित नहीं रहेंगे है।

आयशा का कहना है कि कुछ बच्चों और लड़कियों ने आज तक स्कूल नहीं देखा है। जबकि कुछ बच्चे फीस के अभाव के कारण स्कूल से निकाल दिया गए है। ऐसे में यह बच्चे शिक्षा से वंचित ना रह जाएं इसलिए वह इन बच्चों को वो मुफ्त में शिक्षा दे रही हैं। इस बिटिया की पहल पर लोगों ने अपने बच्चों को पढ़ने के लिए भेजना शुरु किया और आज आयशा के पास 66 बच्चे पढ़ने आते हैं। आयशा के अलावा ऐसी कई मुस्लिम बेटियां हैं जो अपने मोहल्लों में, गांवों में शिक्षा की अलख जगा रही हैं। आयशा के इस जज़्बे को हमारा गाज़ियाबाद का सलाम।

 

 

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

 




By श्वेता कुमारी : Sunday 24 सितंबर, 2017 17:40 PM