ताज़ा खबर :
prev next

बुलंदशहर की लड़की ने अखिलेश को खून से ख़त लिखकर माँगा इंसाफ

बुलंदशहर की लड़की ने अखिलेश को खून से ख़त लिखकर माँगा इंसाफ

बुलंदशहर | बुलंदशहर की रहने वाली एक 15 साल की लड़की ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को अपने खून से खत लिखकर अपनी मां के कातिलों को पकड़ने और कुछ आर्थिक मदद की मांग की है। लतिका बंसल नाम की इस लड़की का आरोप है कि उसकी मां को उसके पिता और बाकी घर वालों ने सिर्फ इसलिए जलाकर मार डाला क्योंकि वह उन्हें लड़का नहीं दे पा रही थी। लतिका ने खून से लिखे खत में कहा कि उसकी मां अनु बंसल को 14 जून को उसके और उसकी छोटी बहन के सामने ही जिंदा जला दिया गया था। उसकी छोटी बहन की उम्र महज़ 11 साल है।

बुलाने पर भी नहीं आई पुलिस
लतिका ने अपने खत में यह भी बताया कि उसने मदद के लिए 100 नंबर पर कॉल किया था और एंबुलेंस को भी बुलाने की कोशिश की थी लेकिन कोई नहीं आया। लतिका ने खत में लिखा है कि वह अपनी मां को किसी अंकल की मदद से हॉस्पिटल लेकर पहुंची थी। लेकिन तबतक वह 95 प्रतिशत जल चुकी थी। इस वजह से उन्हें बचाया नहीं जा सका।

लतिका ने खत में लिखा, ‘मैं वह सब नहीं भूल सकती जो मैंने देखा। मेरी मां को मेरे सामने जला दिया गया। मैं पिछले 15 सालों से देख रही थी कि मेरी मां को लड़का ना पैदा कर पाने की वजह से परेशान किया जाता था। मेरी बहन के पैदा होने पर हमें घर से भी निकाल दिया गया था। हम लोग किराए पर रहे थे। 14 जून की रात मेरी दादी और कुछ रिश्तेदार घर में घुस आए और कहने लगे कि वे मेरे पिता की किसी ऐसी महिला से शादी करवाएंगे जो उन्हें लड़का दे सके। फिर कहासुनी होने लगी और उन्होंने मेरी मां को आग लगा दी। मेरी बहन लगातार रो रही थी लेकिन मुझे किसी तरह हिम्मत करके 100 नंबर पर कॉल करना पड़ा।’

फिलहाल लतिका 9वीं क्लास में है और अब अखिलेश यादव से मदद मांग रही है। वह चाहती है कि अखिलेश यादव गुनाहगारों को तो पकड़े हीं, लेकिन बहन और उसके लिए कुछ आर्थिक मदद का भी इंतजाम करें ताकि उनकी पढ़ाई ठीक से हो सके। वहीं इस मामले पर बुलंदशहर के एडिशनल एसपी राम मोहन सिंह ने बताया कि शिकायत के बाद ही मुख्य आरोपी यानी अनु के पति को गिरफ्तार कर लिया गया था। पुलिस ने अनु के पति पर धारा 302 (मर्डर) लगाई गई थी लेकिन पूछताछ होने के बाद पुलिस ने मामले को सुसाइड का बता दिया और पति, मनोज बंसल पर धारा 306 (सुसाइड के लिए उकसाना) लगा दी। वहीं मनोज का दावा है कि उसने अनु को जलाने की नहीं बल्कि बचाने की कोशिश की थी जिसमें उसके भी हाथ जल गए थे।
(सौजन्य – एजेंसियां)
1-HG-Mobile-Application