ताज़ा खबर :
prev next

गाज़ियाबाद नगर निगम – बेख़ौफ़ कीजिए कब्ज़ा बस पेनाल्टी भरते रहिए

गाज़ियाबाद नगर निगम – बेख़ौफ़ कीजिए कब्ज़ा बस पेनाल्टी भरते रहिए

ग़ाज़ियाबाद | यदि आप अपने घर के आसपास की जमीन पर कब्ज़ा ज़माने की कोशिश कर रहे हैं तो बेख़ौफ़ होकर कीजिए, नगर निगम के कर्मचारी अब आपको परेशान नहीं करेंगे। आपको बस इतना करना है कि निगम द्वारा निर्धारित जुर्माने को समय से भरते रहें।

ग़ाज़ियाबाद के लगभग हर इलाके में लोगों ने अपने घर से लेकर सड़क तक की जमीन पर स्थायी या अस्थायी निर्माण कर कब्ज़ा कर रखा। किसी ने पार्किंग बनाई हुई है, तो फिर किसी ने बगीचा। कुछ ने खाली जगह की घेराबंदी कर वहां जनरेटर सेट लगाये हुए हैं। बहुतों ने अपने घर के आगे पड़ी खाली जगह पर खोखा रखने या फिर रेहड़ी-पटरी लगवा कर दुकानें खुलवा दी हैं और उनसे बाकायदा किराया वसूल रहे हैं। ऐसे अस्थायी कब्ज़ा करने वालों के खिलाफ अब नगर निगम पेनाल्टी लगा कर धन वसूलने की योजना बना रही है।

यदि यह योजना लागू हो गई तो मकान मालिक को अपने घर के सामने एक से ज्यादा वाहन खड़े करने पर शुल्क के साथ पेनाल्टी भी देनी होगी। इसके अलावा निगम की रेहड़ी-पटरी वालों से भी निर्धारित चार्ज लेने की योजना है। जो लोग अपने घर या दुकान के ठीक सामने की जगह किराए पर दे देते हैं उनसे भी प्रति फुट के हिसाब से चार्ज और पेनल्टी वसूल करने की योजना बनाई जा रही है। यदि आप पेनाल्टी नहीं देंगे, तो दो गुना जुर्माना भरना होगा। अस्थाई निर्माण पर लगाईं जाने वाली पेनाल्टी से नगर निगम को करोड़ों रुपयों की आमदनी होने की उम्मीद है।

अतिक्रमण पर निगम हुआ नरम
गाज़ियाबाद में लोगों ने सरकारी जमीन पर दो तरह से कब्ज़ा किया हुआ है। कुछ ने अस्थायी निर्माण किया हुआ है और कुछ ने स्थायी। अगर आपने सरकारी जमीन पर पक्का निर्माण किया हुआ है तो निगम इसे स्थायी मानता है। अस्थायी अतिक्रमण में टीन के शेड, खोखा, रेहड़ी या फिर वाहनों की पार्किंग आदि आते हैं। स्थायी अतिक्रमण को हटाने के लिए पहले नगर निगम 15 दिन का नोटिस जारी करेगा। अगर आप इस अवधि के दौरान अतिक्रमण ध्वस्त कर निगम को सूचित कर देते हैं तो निगम कोई कार्यवाही नहीं करेगा। यदि आप नोटिस पीरियड बीत जाने के बाद भी अतिक्रमण नहीं हटाते हैं तो निगम को प्रतिदिन दोगुनी दर से आर्थिक दंड वसूलने का अधिकार होगा।

पार्किंग देना संपत्ति मालिक की जिम्मेदारी
यदि बोर्ड निगम के नए नियम पास कर देता है तो शहर के सभी नर्सिंग होम, होटल, बैंक्विट हॉल, मैरिज होम, बैंक व अन्य इस तरह के संस्थानों को अपने यहाँ वाहन पार्किंग सुविधा देनी होगी। ऐसा नहीं करने पर अगर यदि इन भवनों के सामने वाली सड़क पर कोई वाहन पाया गया तब निगम उससे प्रति दिन की दर से पेनल्टी वसूलेगा। निर्धारित समय पर पेनल्टी निगम कोष में जमा न कराने पर 12 प्रतिशत की दर से ब्याज प्रति वर्ष देना होगा। पैसा जमा न करने पर उसकी वसूली के लिए कार्रवाई की जाएगी।

एक मकान – एक वाहन
इस पॉलिसी के लागू होने पर एक मकान के सामने सिर्फ एक वाहन की पार्किंग की परमिशन होगी। यह कार, बाइक या तीन पहिया गाड़ी भी हो सकती है। इस गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर भी नगर निगम में दर्ज कराना पड़ेगा। एक गाड़ी के अलावा कोई भी दूसरी गाड़ी होगी तब गाड़ी के प्रति फुट एरिया कवर करने के हिसाब से चार्ज व साथ में पेनल्टी भी देनी पड़ेगी।

1-HG-Mobile-Application

By विभा : Sunday 24 सितंबर, 2017 17:53 PM