ताज़ा खबर :
prev next

मध्य प्रदेश – बैलगाड़ी यात्रा पर निकले ज्योतिरादित्य सिंधिया, कहा केंद्र में है एक पैसे वाली सरकार

मध्य प्रदेश – बैलगाड़ी यात्रा पर निकले ज्योतिरादित्य सिंधिया, कहा केंद्र में है एक पैसे वाली सरकार

भोपाल | मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही राज्य में राजनैतिक गतिविधियों ने आक्रमक रुख ले लिया है। हालांकि विपक्ष ने अभी अपने किसी नेता को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार नहीं बनाया है मगर कांग्रेस पार्टी के एक बड़े गुट द्वारा ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री के रूप में प्रोजेक्ट किया जा रहा है। ज्योतिरादित्य ने पैट्रोल और डीजल की लगातार बढ़ती कीमतों के खिलाफ कल (मंगलवार) “बैल गाड़ी यात्रा” शुरू की है।

यात्रा निकालने से पहले सिंधिया ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘आज आमजन एवं इस देश के माथे पर ये (केन्द्र सरकार के लोग) कलंक लगा रहे हैं, एक पैसा पेट्रोल और डीजल का दाम कम करके। मैं तो इन्हें नाम दूंगा कि ये तो एक पैसे वाली सरकार है। उन्होंने कहा कि आज हम पेट्रोल एवं डीजल के दाम की वृद्धि के विरोध में बैलगाड़ी यात्रा कर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, क्योंकि जो स्थिति देश के अंदर उत्पन्न हुई है, देश की जनता को भी उसका पता चले।

मध्य प्रदेश कांग्रेस की प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष सिंधिया ने कहा कि जब चार साल पहले कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए की सरकार के समय 120 डालर प्रति बैरल अंतरराष्ट्रीय जगत में तेल का दाम होता था, तब देश में 60 रूपये प्रति लीटर डीजल का दाम होता था और 65 रूपये प्रति लीटर पेट्रोल का दाम होता था। उन्होंने कहा कि आज तेल का अंतरराष्ट्रीय दाम 120 डालर प्रति बैरल से घटकर 75 डालर प्रति बैरल आ गया है, लेकिन फिर भी देश में पेट्रोल 82 रूपये प्रति लीटर और डीजल 70 से 75 रूपये प्रति लीटर बेचा जा रहा है। कांग्रेस नेता ने कहा कि तेल का अंतरराष्ट्रीय दाम चार साल पहले हमारी यूपीए सरकार के समय से आज 30 प्रतिशत कम है, लेकिन फिर भी पेट्रोल-डीजल महंगा बेचा जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘बात स्पष्ट है कि ये इसलिये है कि ये सूट-बूट की सरकार है। साढ़े तीन लाख करोड़ रूपये प्रति वर्ष सरकारी खजाने में मुनाफे के तौर पर भारत सरकार को मिल रहा है।’

सिंधिया ने आरोप लगाया, ‘‘ये किसानों का पैसा, आप और हमारे जैसे आम जनों का पैसा सींच-सींच कर अपनी जेब में डाल रहे हैं। मध्य प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए सिंधिया ने कहा, ‘‘सबसे ज्यादा वैट आज मध्य प्रदेश की जनता पर है। 28 प्रतिशत वैट पेट्रोल पर और 22 प्रतिशत डीजल पर। इस वैट से 600 करोड़ रूपये प्रति माह मध्य प्रदेश सरकार कमाई कर रही है, जो 7,000 करोड़ प्रति वर्ष होता है। उन्होंने कहा, अगर केन्द्र सरकार पेट्रोल-डीजल के दाम कम नहीं कर रही, तो प्रदेश की शिवराज सरकार अपना वैट कम क्यों नहीं करती, ताकि आम जन को राहत मिल पाये।’

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel