ताज़ा खबर :
prev next

मिलिए ऐसे कलेक्टर से जो घर से बनाकर परोसते हैं आँगनबाड़ी केंद्र पर हलवा

मिलिए ऐसे कलेक्टर से जो घर से बनाकर परोसते हैं आँगनबाड़ी केंद्र पर हलवा

बाराँ (राजस्थान) | प्रेरणादायक खबरों की कड़ी में आज हम आपका परिचय एक ऐसे जिलाधिकारी से करा रहे है जो खुद अपने घर से हलवा बनाकर आंगनबाड़ी केंद्र पहुंचते हैं और वहां आने वाले बच्चों को अपने हाथ से इसे परोसते हैं। कलेक्टर की इस अनूठी पहल से प्रभावित होकर अब आम लोग भी आगे आ रहे हैं और उनकी इस मुहिम का हिस्सा बन रहे हैं। ये कर्तव्यनिष्ठ अधिकारी हैं राजस्थान के बारां जिले के कलेक्टर डॉ एसपी सिंह। आंगनबाड़ी के बच्चों को पौष्टिक भोजन खिलाने के लिए डॉ. सिंह ने खुद पहल की है। जिले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर जहां आसपास के इलाकों के बच्चे आते हैं और उन्हें वहां खाना दिया जाता है। डॉ. सिंह हर रोज किसी एक आंगनबाड़ी केंद्र का चयन करते हैं और वहां आने वाले बच्चों की औसत संख्या के हिसाब से हलवा बनवा कर ले जाते हैं। वहां बच्चों को अपने हाथ से हलवा परोसते हैं।

डॉ सिंह बताते हैं कि सरकार अपने स्तर पर आंगनबाड़ी में आने वाले बच्चों को पोषाहार देने का हरसंभव प्रयास करती है, लेकिन अगर आम लोग भी इस काम से जुड़ें तो यह काम बेहतर तरीके से और बड़े पैमाने पर हो सकेगा। सिर्फ बातों के सहारे लोगों को प्रेरित करने की बजाए उन्होंने खुद इस कार्य को करने का प्रयास किया और अब उनकी कोशिश रंग लाने लगी है। इलाके के अन्य लोग भी बच्चों को पौष्टिक आहार देने की उनकी इस मुहिम में जुट गए है ।

डॉ सिंह का कहना है कि हर घर में किसी का जन्मदिन, शादी की सालगिरह या किसी त्यौहार समेत अन्य आयोजनों पर अगर आंगनबाड़ी के बच्चों को खाना देने का भी नियम बना लिया जाए तो इससे उनके साथ अपनी खुशी बांटने का आनंद तो मिलेगा। यही नहीं उन बच्चों के चेहरे पर खिली मुस्कुराहट और अपनेपन से अपना सामाजिक दायित्व निभाने का संतोष भी मिलेगा।

डॉ सिंह ने कहा कि वह खुद चूंकि मेडिकल पृष्ठभूमि से आते हैं इसलिए उन्होंने देखा है कि बच्चे, विशेषकर निचले तबके के बच्चे पौष्टिक आहार नहीं मिलने से कई तरह की बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि यही सोचकर आंगनबाड़ी के बच्चों के लिए कुछ करने का फैसला किया। स्वास्थ्य और पोषण के क्षेत्र में अच्छा काम करने के लिए बारां जिले के डीएम डॉ. एसपी सिंह की सराहना नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत भी कर चुके हैं।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel