ताज़ा खबर :
prev next

घरवालों की डांट से बचने के लिए छात्रा बनाई थी गैंग रेप की झूठी कहानी

घरवालों की डांट से बचने के लिए छात्रा बनाई थी गैंग रेप की झूठी कहानी

गाज़ियाबाद। भारतीय कानून व्यवस्था में महिलाओं व बच्चियों के लिए बनाए गए कानूनों का कुछ लोगों द्वारा गलत इस्तेमाल किया जाता है। जिसका परिणाम बेकसूर लोगों को भुगतना पड़ता है। ग्रेटर नोएडा कोतवाली क्षेत्र में एक सप्ताह पहले 11वीं की छात्रा से कथित गैंगरेप का मामला जांच में फर्जी निकला है। छात्रा के बयान, सीसीटीवी और एक शादी समारोह से मिली विडियो फुटेज के साथ मोबाइल कॉल से इस बात की पुष्टि हुई है कि जिन 3 युवकों पर छात्रा ने गैंगरेप का आरोप लगाया था, वे उसके साथ थे ही नहीं। छात्रा ने घर पहुंचने में हुई देरी पर डांट से बचने के लिए फर्जी कहानी बनाई थी।

जांच में पता चला कि छात्रा के बुलाने पर युवक ने मिलने से इनकार कर दिया था। तब उसने फर्जी कहानी बनाकर उसे फंसाने की कोशिश की। पुलिस ने मामले को रद्द करने की कार्रवाई शुरू कर दी है।

ग्रेटर नोएडा के पी-3 सेक्टर स्थित एक सोसायटी में रहने वाली 11वीं की छात्रा ने 18 अप्रैल को अपने रिश्तेदार युवक, सहपाठी व एक अज्ञात युवक पर कार में बंधक बनाकर गैंगरेप करने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसके बाद पुलिस आरोपितों को पकड़ने में जुट गई थी। जांच में सारी कहानी सामने आ गई।

संबंधित खबर :-

एसपी देहात सुनीति का कहना है कि अब तक की जांच में पूरा मामला फर्जी निकला है। छात्रा ने रिश्तेदार युवक को बुलाने के लिए खुद कॉल की थी। उसने आने से इनकार कर दिया। छात्रा ने उसे 4 बार कॉल की थी। जिस कार में गैंगरेप की बात कही गई थी वह लड़की उसमें बैठी ही नहीं थी। बल्कि वह एक बाइक पर जाती दिखी है। घटना के दौरान रिश्तेदार युवक एक शादी में मौजूद था। शादी की विडियो में भी वह दिख रहा है। सहपाठी और अज्ञात युवक भी उसके साथ नहीं पाए गए। घर पहुंचने में देर होने पर परिवार की डांट से बचने और युवक से अपनी नाराजगी निकालने के लिए छात्रा ने फर्जी कहानी बना दी।

 

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।