ताज़ा खबर :
prev next

गुड़गांव- अस्पताल के गेट पर फिर एक गर्भवती महिला की हुई डिलीवरी, स्वास्थ्य सेवाए न मिलने से नवजात की मौत

गुड़गांव- अस्पताल के गेट पर फिर एक गर्भवती महिला की हुई डिलीवरी, स्वास्थ्य सेवाए न मिलने से नवजात की मौत

गुड़गांव। सिविल हॉस्पिटल में एक बार फिर बुधवार को गेट पर एक बच्चे का जन्म हुआ। जब तक उसे वॉर्ड में ले जाया जाता, उससे पहले ही उसकी मौत हो गई। परिवार वालों का आरोप है कि इलाज न मिलने और रेफर करने की खानापूर्ति में ही बच्चे को जान गंवानी पड़ी। उन्होंने आरोप लगाया कि गायनी ओपीडी में तैनात डॉक्टर और नर्स ने गर्भवती महिला का चेकअप तक नहीं किया। बता दें कि तीन माह के दौरान इस प्रकार की तीसरी घटना होने के बाद भी अस्पताल प्रबंधन कोई कारगर कदम नहीं उठा रहा है।

पटौदी के गांव दौलताबाद निवासी जयदेव ने अपनी गर्भवती पत्नी को चेकअप कराने के लिए सिविल अस्पताल लेकर गए। उनकी पत्नी 7 महीने की गर्भवती थीं। वहां पर गायनी ओपीडी में डॉक्टर को दिखाने के लिए इंतजार करने लगे। आरोप है कि काफी समय बीतने के बाद भी उनकी पत्नी को देखने कोई नहीं आया। हालत खराब होने पर स्टाफ ने इलाज के नाम पर न केवल खानापूर्ति की बल्कि महिला को दिल्ली के लिए रेफर कर दिया। जैसे ही महिला को ऐम्बुलेंस में लेकर जाने लगे, उसी दौरान गेट पर ही बच्चे का जन्म हो गया। इसके बाद आनन-फानन में अस्पताल के कर्मचारियों और डॉक्टरों ने महिला और बच्चे को एडमिट कर लिया, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। एडमिट करने से पहले ही बच्चे की मौत हो चुकी थी।

पीएमओ डॉ़ प्रदीप शर्मा के मुताबिक, बच्चे का हाथ बच्चेदानी से बाहर आ गया था। इस हालात में मरीज को दिल्ली के सफदरजंग में रेफर किया गया था। इस मामले की गंभीरता को देखते हुए डीसी ने इस मामले पर संज्ञान लेते हुए सख्त कार्रवाई के लिए टीम गठित कर जांच के आदेश दे दिए हैं।

3 माह में तीसरी घटना

इससे पहले फरवरी में भी एक गर्भवती महिला के पास आधार कार्ड न होने पर उसे एडमिट नहीं किया गया था। इस कारण उसने सिविल हॉस्पिटल की इमरजेंसी गेट के बाहर पार्किंग एरिया में ही बच्चे को जन्म दिया। फरवरी में ही एक अन्य गर्भवती को दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल रेफर किया गया था। हॉस्पिटल से करीब 10 किलोमीटर की दूरी पर दिल्ली बॉर्डर के पास रजोकरी फ्लाईओवर पर ही महिला ने ऐम्बुलेंस में बच्चे को जन्म दिया था।

हमारा गाज़ियाबाद के एंड्राइड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक कर सकते हैंआप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।