ताज़ा खबर :
prev next

बलात्कारी सिद्ध हुए आसाराम बापू, शाम तक हो सकता है सजा का ऐलान

बलात्कारी सिद्ध हुए आसाराम बापू, शाम तक हो सकता है सजा का ऐलान

जोधपुर | ताकतवर और असरदार व्यक्तियों द्वारा दमन के खिलाफ अपने हक की लड़ाई लड़ रहे लोग अकसर थक कर हार जाते हैं। खुद को अकेला पाकर इस बात पर यकीन खो देते हैं कि अधर्म पर सदैव धर्म की जीत होती है। मगर जोधपुर अदालत के न्यायधीश ने आज फिर से सिद्ध कर दिया कि असत्य कितना भी ताकतवर क्यों न हो, जीत आखिर सत्य की ही होती है। अदालत ने प्रसिद्ध कथावाचक और खुद को धर्मगुरु कहने वाले आसाराम बापू के खिलाफ रेप के मामले में फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने आसाराम के साथ उनकी सेविका शिल्पी उर्फ संचिता गुप्ता और शरदचंद्र उर्फ शरतचंद्र को भी दोषी करार दिया है। जबकि शिवा उर्फ सवाराम (आसाराम का प्रमुख सेवादार), प्रकाश द्विवेदी (आश्रम का रसोइया) को बरी कर दिया है। कोर्ट ने माना है कि आसाराम ने ही नाबालिग से बलात्कार किया था। आज ही सजा का ऐलान भी हो सकता है।

फैसले के बाद नाबालिग के पिता ने कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। पिता ने कहा कि हमें न्याय मिला। जिन लोगों ने हमारा साथ दिया हम उनका शुक्रिया अदा करना चाहते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि अब आसाराम को कड़ी सजा दी जाएगी। इस मामले में अंतिम सुनवाई एससी/एसटी की विशेष अदालत में सात अप्रैल को पूरी हुई थी और अदालत ने फैसले को सुरक्षित रखते हुए 25 अप्रैल को सुनाने की बात कही थी। आसाराम को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर की एक किशोरी की शिकायत पर गिरफ्तार किया गया था। पीड़िता आसाराम के मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा आश्रम में अध्ययन करती थी। पीड़िता का आरोप था कि आसाराम ने जोधपुर के पास मनाई इलाके में अपने आश्रम में बुलाकर उससे 15 अगस्त, 2013 को रेप किया था।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel