ताज़ा खबर :
prev next

कॉमनवेल्थ गेम्स – पैंतीस साल की उम्र में मेरी कॉम ने मारा सुनहरी मुक्का, इंग्लैंड की मुक्केबाज को हराकर जीता गोल्ड

कॉमनवेल्थ  गेम्स – पैंतीस साल की उम्र में मेरी कॉम ने मारा सुनहरी मुक्का, इंग्लैंड की मुक्केबाज को हराकर जीता गोल्ड

गोल्ड कोस्ट | कॉमनवेल्थ खेलों में भारत की सबसे बड़ी उम्मीद मेरी कॉम ने शनिवार को गेम्स के 10वें दिन महिला मुक्केबाजी की 45-48 किलोग्राम भार वर्ग का स्वर्ण अपने नाम कर लिया है। मेरी कॉम ने फाइनल में इंग्लैंड की क्रिस्टिना ओ हारा को 5-0 से मात देकर पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में पदक हासिल किया। मैरी कॉम ने पहले राउंड में सब्र दिखाया और मौकों का इंतजार किया। उन्हें मौके भी मिले जिसे उन्होंने अपने पंचों से बखूबी भुनाया। आज मेरी कॉम अपने बाएं जैब का अच्छा इस्तेमाल कर रही थीं और धीरे-धीरे आक्रामक हो रही थीं।

दूसरे राउंड में भी मेरी कॉम ने अपना अंदाज जारी रखा। दूसरी ओर क्रिस्टिना कोशिश तो कर रहीं थी, लेकिन उनके पंच लगातार चूक रहे थे। बता दें कि मेरी कॉम इस समय 35 वर्ष की हैं और तीन बच्चों की माँ हैं । ओलंपिक में वह कांस्य पदक जीत चुकी हैं और 5 बार विश्व चैंपियन रह चुकी हैं। उन्हें पद्मश्री और पद्मभूषण से नवाजा जा चुका है। पांच महीने पहले एशियाई चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीतने वाली मेरीकोम ने जनवरी में इंडिया ओपन जीता था। उन्होंने बुल्गारिया में स्ट्रांजा मेमोरियल टूर्नामेंट में भी रजत पदक जीता था।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad
Subscribe to our News Channel