ताज़ा खबर :
prev next

जुलाई से शुरु हो जायेगा 90 किमी लम्बे आरआरटीएस का कार्य- डॉ प्रभात कुमार

जुलाई से शुरु हो जायेगा 90 किमी लम्बे आरआरटीएस का कार्य- डॉ प्रभात कुमार

मेरठ। प्रदेश व केन्द्र सरकार ने जनपद को मेट्रों व आरआरटीएस की सौगात दी है। दिल्ली के सराय काले खां से मेरठ के मोदीपुरम तक आरआरटीएस तथा मेरठ शहर मे दो कोरीडोर पर मैट्रो चलेगी। आरआरटीएस की कुल लम्बाई 90 किमी होगी जिसमें 22 स्टेशन होंगे तथा यह दूरी 62 मिनट में तय होगी। आरआरटीएस पर काम जुलाई 2018 से शुरू होकर जून 2024 तक पूरा होगा। इसकी कुल अनुमानित लागत 32 हजार 598 करोड़ रूपये आयेगी। परतापुर से मोदीपुरम तक मेट्रों व आरआरटीएस एक ही एलाइमेंट में होगी। ब्रहस्पतिवार को आयुक्त सभागार में आरआरटीएस (रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम) के कार्यो की प्रगति की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए आयुक्त डा0 प्रभात कुमार ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि भारत में अपनी तरह की पहली क्षेत्रीय रेल सेवा लेकर आ रहा है जोकि दिल्ली से मेरठ तक होगी। इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार वित्तीय वर्ष 2018-19 में 250 करोड़ रूपये व केन्द्र सरकार ने 659 करोड़ रूपये का प्रावधान किया है। मंडलायुक्त ने अधिकारियों को आरआरटीएस के लिए जहां भूमि अधिग्रहण की आवश्यकता है उस कार्य को शीघ्र पूर्ण करने, स्टेशन के आसपास पार्किग की व्यवस्था सुनिश्चित करने व समय सीमा के अन्दर कार्य पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया।

इस दौरान एनसीआरटीसी के ग्रुप महाप्रबंधक प्लानिंग सुधीर कुमार शर्मा ने बताया कि आरआरटीएस पर साहिबाबाद से दुहाई तक कुल 16.5 किमी पर दो पैकेज में कार्य किया जाएगा, जिस पर टेण्डर आमंत्रित किये जा चके है तथा मई 2018 तक टेण्डर प्रक्रिया पूर्ण होकर जुलाई 2018 से कार्य प्रारम्भ हो जाएगा। परतापुर व मोदीपुरम के बीच मेट्रो यात्रियों को दिल्ली जाने के लिए आरआरटीएस उपलब्ध होगी। परतापुर से मोदीपुरम का सफर कुल 15 मिनट में तय होगा। परतापुर से मोदीपुरम तक मेट्रों व आरआरटीएस एक ही एलाइमेंट में होने से इसकी लागत में 6500 करोड़ रूपये की कमी आयेगी। इसकी कुल दूरी 90 किमी होगी जोकि 62 मिनट का सफर होगा।

एनसीआरटीसी के मैनेजिंग डायरेक्टर विनय कुमार सिंह ने बताया कि एनसीआरटीसी सुरक्षा व संरक्षा के लिए कटिबंद्ध है तथा निर्माण कार्य की बैरीकेडिंग भी करायी जाएगी। आरआरटीएस के लिए दुहाई व मोदीपुरम में एक डीपोट भी बनाया जाएगा तथा वहां एक स्टेशन भी होगा। उन्होंने बताया कि गाजियाबाद नगर निगम से भूमि का राइट ऑफ वे, मेरठ तिराहे से इलैक्ट्रिक पोल को शिफ्ट किये जाने, पीडब्लूडी से कुछ एनओसी लम्बित होने, खेल निदेशालय व यूपी सिंचाई से लम्बिंत प्रकरणों के साथ-साथ कास्टिग यार्ड के लिए अस्थाई भूमि की उपलब्धता की मांग रखी जिस पर आयुक्त ने सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित कर जल्द से जल्द मांगो को पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया।

इस अवसर पर विधायक हस्तिनापुर दिनेश खटीक, रफीक अंसारी, सांसद प्रतिनिधि हर्ष गोयल, अपर आयुक्त जयशंकर दूबे, मुख्य विकास अधिकारी आर्यका अखौरी, एमडीए सचिव राज कुमार, जीडीए के मुख्य अभियंता वीएन सिंह, मुख्य वन संरक्षक ललित कुमार वर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो भी कर सकते हैं।

By हमारा गाज़ियाबाद संवाददाता : Friday 27 अप्रैल, 2018 02:53 AM