खेल

अर्जुन तेंदुलकर को मुंबई इंडियंस ने नहीं दिया डेब्‍यू का मौका, पिता सचिन ने दिया सफलता का गुरुमंत्र

मुंबई। सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन को इंडियन प्रीमियर लीग के दो सत्र में मुंबई इंडियन्स के 28 मैच के दौरान एक बार भी खेलने का मौका नहीं मिला और इस पूर्व महान क्रिकेटर ने इस उभरते हुए ऑलराउंडर से कहा है कि उनके लिए राह चुनौतीपूर्ण होने वाली है और उन्हें कड़ी मेहनत जारी रखनी होगी। मुंबई इंडियन्स से जुड़े हुए तेंदुलकर ने साथ ही स्पष्ट किया कि वह चयन मामलों में हस्तक्षेप नहीं करते।

मुंबई ने पिछले सीजन में अर्जुन को 20 लाख और इस सीजन में 30 लाख रुपये में खरीदा था। सचिन लंबे समय से मुंबई की टीम के साथ हैं। तेंदुलकर मुंबई की टीम के पहले कप्तान थे। क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद से वो टीम के साथ मेंटर के रूप में जुड़े हुए हैं। सचिन ने एक शो ‘सैचइनसाइट’ पर अर्जुन के बारे में बात की। उनसे यह पूछा गया कि क्या वो अर्जुन को इस सीजन में खेलते हुए देखना पसंद करते तो तेंदुलकर ने कहा, ‘‘यह सवाल अलग है। मैं इस बारे में क्या सोचता हूं और क्या महसूस करता हूं वह मायने नहीं रखता है। अब सीजन समाप्त हो चुका है। मैंने हमेशा अर्जुन से कहा है कि यह डगर कठिन और मुश्किल है।’’

तेंदुलकर ने आगे कहा, ‘‘मैंने उसे हमेशा कहा है कि तुमने क्रिकेट खेलना इसलिए शुरू किया है, क्योंकि तुम क्रिकेट से प्यार करते हो। ऐसा करना जारी रखना होगा। कड़ी मेहतन करो, नतीजे मिलेंगे।’’ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक लगा चुके सचिन ने चयन को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा, ”जहां तक चयन का सवाल है तो मैं इसमें हस्तक्षेप नहीं करता हूं। मैं टीम प्रबंधन पर छोड़ देता हूं। मैंने हमेशा ऐसा ही किया है।’’

इस साल सीजन के आखिरी मैच में भी अर्जुन को टीम में मौका ना दिए जाने पर उनकी बहन सारा ने एक स्टोरी शेयर की थी। इस स्टोरी में अर्जुन पानी की बोतल लेकर बाउंड्री लाइन के पास नजर आए। बैकग्राउंड में ‘अपना टाइम आएगा’ गीत बज रहा था। फैंस को उम्मीद थी कि सीजन के आखिरी मैच में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ अर्जुन को मौका दिया जाएगा। अर्जुन टॉस से पहले फील्ड पर बॉलिंग रन अप मार्क करते हुए भी दिखे थे। हालांकि टॉस के बाद टीम अनाउंसमेंट के दौरान साफ हो गया अर्जुन को इस मुकाबले में भी मुंबई इंडियंस के प्लेइंग 11 में जगह नहीं दी जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.