ख़बरें राज्यों से

भाजपा नेता ने पहले नाम पूछा फिर आधार कार्ड माँगा, मुसलमान होने के शक में जैन बुजुर्ग की पीट-पीटकर हत्या

नीमच। मध्यप्रदेश के नीमच में एक बुजुर्ग के साथ अमानवीय हरकत की गई। जैन बुजुर्ग को मुसलमान होने के शक में मार डाला गया। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है।

रतलाम जिले की सबसे बुजुर्ग सरपंच पिस्ताबाई चत्तर जैन (86) पूरा परिवार 15 मई को भेरूजी पूजा करने चित्तौड़गढ़ गया था। 16 मई को पूजा-पाठ के बाद उनका बड़ा बेटा भंवरलाल चत्तर जैन लापता हो गए। तभी से परिजन उनकी चित्तौड़ से लेकर जावरा तक तलाश करते रहे लेकिन उनका पता नहीं चला। इसी बीच 20 मई को उनका शव मनासा (नीमच) में पुलिस थाने से आधा किमी दूर रामपुरा रोड पर मिला था। मनासा पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव स्वजन को सौंप दिया था। स्वजन ने शव को सरसी लाकर अंतिम संस्कार किया। अंतिम संस्कार करने के बाद शाम को भंवरलाल जैन की पिटाई का एक वीडियो वायरल हुआ जो उनके भाई अजीत तक पहुंचा।

अमानवीयता का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में सुना जा सकता है कि चाटे मारने वाला व्यक्ति यह पूछ रहा है कि तेरा नाम क्या मोहम्मद है? जावरा से आया है? चल तेरा आधार कार्ड बता। वीडियो में आरोपी को पीड़ित को बार-बार थप्पड़ मारते, उसका आधार कार्ड मांगते और उससे यह पूछते हुए देखा जा सकता है कि क्या उसका नाम मोहम्मद है।

वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो मृतक का भाई, गांव और जैन समाज के लोग बड़ी संख्या में मनासा थाने पर एकत्रित हो गए। आरोपी को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग करने लगे। मनासा पुलिस ने मारपीट करने वाले की पहचान कर ली है। मारपीट करने वाला आरोपी दिनेश पिता बोथलाल कुशवाह है, जो मनासा के काछी मोहल्ले का ही रहने वाला है। वह, बीजेपी की पूर्व पार्षद का पति बताया जा रहा है।

पुलिस ने दर्ज किया मामला
मनासा पुलिस थाने के प्रभारी केएल डांगी ने कहा, ‘मृतक का अंतिम संस्कार करने के बाद उसके परिजनों को कथित वीडियो के बारे में पता चला और उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी।’ वीडियो सामने आने के बाद पुलिस ने भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 302 (हत्या) और धारा 304 (गैर इरादतन हत्या) के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। डांगी के मुताबिक, प्रारंभिक सूचना के अनुसार वीडियो में दिख रहे व्यक्ति की पहचान मनासा निवासी दिनेश कुशवाहा के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपी दिनेश कुशवाह को गिरफ्तार कर लिया है। मनासा में जब उसका घर गिराने बुलडोजर भेजा गया तब वह सामने आया।

मानसिक रूप से अस्वस्थ थे भंवरलाल
सिरसा (रतलाम) की सरपंच पिस्ताबाई के तीन पुत्र है- भंवरलाल, अशोक और राजेश चत्तर। अशोक चत्तर मंडी में तुलावटी एसोसिएशन के अध्यक्ष हैं, जबकि राजेश समाजसेवा में सक्रिय होकर सरपंच प्रतिनिधि हैं। सबसे बड़े बेटे भंवरलाल दिमागी रूप से अस्वस्थ थे। इसी वजह से उनकी शादी नहीं हुई थी।

इस बीच, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने एक ट्वीट कर आरोपी दिनेश कुशवाहा को भाजपा नेता बताया। उन्होंने कहा, ‘मुझे जानकारी मिली है कि भाजपा नेता दिनेश कुशवाहा के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। देखते हैं गिरफ्तारी होती है या नहीं।’

इसके बाद गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान भी सामने आया। गृहमंत्री ने कहा कि दिग्विजय का साथ उसी को मिलेगा, जो हिंदू धर्म या हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ बोलेगा। क्या आपने कभी देखा कि इन्होंने किसी और धर्म के खिलाफ बोलने वाले का समर्थन किया हो या खुद कभी किसी और धर्म के खिलाफ बोला हो। यह बोल ही नहीं सकते किसी और धर्म के बारे में। ‘उन्होंने कहा कि दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर रतन लाल का समर्थन करना भी इसी का एक उदाहरण है। मिश्रा ने ये भी बताया कि नीमच की घटना के आरोपी के खिलाफ IPC की धारा 302 और 304 के तहत केस दर्ज किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.