ख़बरें राज्यों से

रामनवमी हिंसा: मध्यप्रदेश में आरोपियों के घरों पर चला बुलडोजर, नौकरी भी छिनी

खरगोन। मध्य प्रदेश के खरगोन में रामनवमी के मौके पर हुई हिंसा के बाद राज्य की शिवराज सिंह चौहान एक्शन मोड में आ गई है। सोमवार को दंगाईयों के मकानों को तोड़ने की कार्रवाई शुरू हुई है। शहर के संवेदनशील छोटी मोहन टाकीज क्षेत्र में भारी पुलिस फोर्स की मौजूदगी में मकानों को तोड़ा गया है।

रविवार को हुए दंगे के बाद सोमवार को दंगाईयों के मकानों को तोड़ने की कार्रवाई शुरू हुई है। शहर के संवेदनशील छोटी मोहन टाकीज क्षेत्र में भारी पुलिस फोर्स की मौजूदगी में मकानों को तोड़ा जा रहा है। प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र ने खरगौन के हालात पर चिंता जाहिर करते हुए वारदात करने वालों के लिए चेतावनी जारी की है। उन्होंने कहा है कि जिस घर से पत्थर निकलेगा, उसे पत्थरों का ढेर बना देंगे। खरगौन में उपद्रवियों की गिरफ्तार का सिलसिला जारी है।

कमिश्नर पवन शर्मा ने बताया कि अब तक 84 लोगों को राउंडअप किया गया है। चार सरकारी कर्मचारियों पर भी अफवाह फैलाने के जुर्म में कार्रवाई की गई है। इनमें से एक सरकारी कर्मचारी को निलंबित किया है, जबकि तीन दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त की गई हैं। इसके अलावा 55 से अधिक दंगाइयों को चिन्हित कर उनके घरों के अवैध हिस्सों को तोड़ने की कार्रवाई की जा रही है।

क्या हुआ था रविवार को
रविवार को खरगौन के तालाब चौक और तवड़ी इलाके में रामनवमी के जुलूस के दौरान कुछ लोगों ने इमरीपुरा क्षेत्र समेत कई जगहों पर पथराव शुरू कर दिया। उपद्रवियों ने 30 से ज्यादा दुकानों और मकानों में आग लगा दी। रात करीब 9 बजे मामला कुछ शांत हुआ, लेकिन देर रात 12 बजे फिर हिंसा भड़क गई। आनंद नगर, संजय नगर मोतीपुरा में घर फूंक दिए गए। कुछ घरों में लूटपाट भी की गई। इससे 70 से अधिक परिवारों को घर छोड़कर दूसरी जगह जाना पड़ा। हालात को काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े गए। इस दौरान लोगों को काबू करने में जुटे एसपी सिद्धार्थ चौधरी पर भी उपद्रवियों ने हमला कर दिया, उन्हें पैर में गोली लगी है।

इधर, थाना प्रभारी बनवारी मंडलोई, एक पुलिसकर्मी समेत 20 लोगों के घायल होने की सूचना है। संवेदनशील क्षेत्रों में रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) तैनात कर दी गई है। स्थिति को नियंत्रण करने के लिए प्रशासन ने कुछ इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया है। इसके बाद गृहमंत्री नरोत्तम मिश्र ने अधिकारियों से स्थिति की समीक्षा की।

एसपी के पैर में गोली लगी, गृहमंत्री ने पूछा हाल
इधर स्थिति को काबू करने गए एसपी सिद्धार्थ चौधरी के पैर में गोली लगी है, वहीं 6 पुलिस कर्मी घायल हो गए हैं। गृहमंत्री ने एसपी चौधरी के साथ वीडियो काल पर हालचाल पूछे। उन्होंने कहा कि खरगौन में उपद्रवी बड़ी साजिश को अंजाम देना चाहते थे, लेकिन मप्र पुलिस की जांबाजी के कारण वे अपने मंसूबे में सफल नहीं हो पाए।

घायल किशोर इंदौर में वेंटिलेटर पर
हिंसा में घायल शिवम पिता पुरुषोत्तम (16) निवासी जमींदार मोहल्ला को रात में इंदौर के एक निजी अस्पताल में एडमिट किया गया है। उसके सिर में गंभीर चोट है। परिजन जब उसे इंदौर ला रहे थे, तब वह होश में था। लेकिन, फिर उसकी हालत बिगड़ती गई। उसका रात में ही ऑपरेशन किया गया, लेकिन उसे होश नहीं आया है। किशोर को वेंटिलेटर पर रखा गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.