ख़बरें राज्यों से

31 वर्ष बाद कानपुर से फिर विधानसभा अध्यक्ष, आज सतीश महाना संभालेंगे कार्यभार

कानपुर। आजादी के बाद यूपी के कानपुर को सतीश महाना के रूप में दूसरे विधानसभा अध्यक्ष मिलने जा रहे हैैं। उन्होंने सोमवार को नामांकन किया और मंगलवार को वह कार्यभार ग्रहण करेंगे। इससे पहले कानपुर से हरिकिशन श्रीवास्तव विधानसभा अध्यक्ष रहे थे।

1991 से अब तक रहीं भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सभी सरकारों में सतीश महाना राज्यमंत्री या कैबिनेट मंत्री रहे थे। इस बार वह लगातार आठवीं बार चुनाव जीते थे लेकिन मंत्री पद न मिलने से उनके समर्थक मायूस थे। हालांकि पार्टी ने उन्हें विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए चुना, मंगलवार को विधानसभा अध्यक्ष के रूप में उनकी औपचारिक रूप से घोषणा भी हो जाएगी क्योंकि किसी दूसरे दल ने अपना प्रत्याशी उनके सामने नहीं उतारा। उनसे पहले कानपुर में चौबेपुर से चुनाव लडऩे वाले हरिकिशन श्रीवास्तव विधानसभा अध्यक्ष रह चुके हैं। वह नौ जनवरी 1990 से 30 जुलाई 1991 तक प्रदेश में विधानसभा अध्यक्ष रहे थे।

सतीश महाना का राजनीतिक प्रोफाइल

– 62 वर्षीय सतीश महाना का जन्म 14 अक्टूबर 1960 को हुआ। उन्होंने बीएससी तक की शिक्षा ग्रहण की है।

– उनके पिता राम अवतार महाना राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े थे, इसी वजह से वह भी बचपन से ही स्वयंसेवक हैं।

– उन्होंने राम मंदिर आंदोलन में भी बढ़चढ़ कर भाग लिया था।

– वह पांच बार कानपुर कैंट और तीन बार महाराजपुर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीते।

– वर्ष 2022 के चुनाव में लगातार आठवीं बार विधायक बने हैं। वह पहली बार 1991 में कैंट विधानसभा क्षेत्र से पहला चुनाव जीते थे।

– वह 1993, 1996, 2002, 2007 में कैंट विधानसभा सीट से ही चुनाव जीते।

– 2009 में विधानसभा सीटों का परिसीमन हो गया तो पार्टी ने उन्हें महाराजपुर विस क्षेत्र से चुनाव लड़ाया।

– 2012 के चुनाव में महाराजपुर विस क्षेत्र से मैदान में उतरे। यहां से भी उन्होंने जीत हासिल की और इसके बाद 2017 और 2022 में भी उन्हें जीत मिली।

– योगी आदित्यनाथ के पहले कार्यकाल में वह औद्योगिक विकास मंत्री थे।

– वह नगर विकास राज्यमंत्री, खादी, ग्रामीण उद्योग, टेक्सटाइल, एमएसएमई, निर्यात प्रोत्साहन मंत्री भी रह चुके हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.