अपराधख़बरें राज्यों से

दिल्‍ली पुलिस के हत्थे चढ़ा कुख्यात बदमाश अनिल दुजाना

नई दिल्‍ली। दिल्‍ली पुलिस ने इनामी बदमाश अनिल दुजाना को उसके दो साथियों के साथ गिरफ्तार किया है। अनिल दुजाना गैंग उत्तर प्रदेश पुलिस की हिट लिस्ट में शामिल है। यही वजह है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर अनिल दुजाना और उसके गुर्गों के खिलाफ बड़े पैमाने पर गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट ने कार्यवाही की है।

ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र के दुजाना गांव के रहने वाले अनिल दुजाना पर हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, फिरौती और रंगदारी के 56 मुकदमे चल रहे हैं। कुख्‍यात अपराधी ने पिछले साल शादी की थी और वह अपनी पत्‍नी को जिला पंचायत का चुनाव लड़वाना चाहता था। ग्रेटर नोएडा के गांव खेड़ी निवासी संगीता ने अनिल दुजाना पर धमकी देने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। जयचंद्र प्रधान हत्याकांड में गवाह उसकी पत्नी सुनीता को धमकी देने वाले मामले में बादलपुर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया था। जिसके बाद अनिल दुजाना फरार हो गया था।

पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी पर 5,000 रुपए का इनाम घोषित किया था। अनिल दुजाना ने अदालत से अंतरिम जमानत मांगी थी। जिस पर 5 महीने पहले सुनवाई हुई और अदालत ने अनिल दुजाना को अंतरिम जमानत दे दी थी। तीन महीने पहले जयचंद्र प्रधान हत्याकांड में अनिल दुजाना की अग्रिम जमानत खारिज कर दी गई थी।

संगीता के पति जयचंद खेड़ी गांव के प्रधान के थे। साल 2011 में दादरी में रेलवे रोड पर जिम से निकलते ही जयचंद की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस हत्या का आरोप अनिल दुजाना पर है। इस मामले में अनिल के खिलाफ संगीता ने मुकदमा दर्ज कराया था जबकि यह मामला कोर्ट में चल रहा है।

पुलिस के मुताबिक, साल 2011 में सरिया चोरी को लेकर सुंदर भाटी और अनिल दुजाना के बीच दुश्मनी शुरू हुई। वहीं, इस काम में वर्चस्व को लेकर शुरू हुई दुश्मनी में जयचंद की हत्या की गई थी क्‍योंकि बादलपुर में सुंदर भाटी गिरोह सक्रिय होने लगा था। यह बात अनिल दुजाना को नागवार गुजरी थी।

अनिल दुजाना को कुछ समय पहले ही जमानत मिली थी लेकिन जयचंद प्रधान की हत्या के मामले में गवाह को गवाही से पलटने के लिए धमकी देने के कारण वह फिर सलाखों के पीछे पहुंच गया है। वह यूपी पुलिस के हार्डकोर क्रिमिनल्स की लिस्ट में है। यही नहीं, उसके खिलाफ गुंडा एक्ट, गैंगस्टर एक्ट और नेशनल सिक्योरिटी एक्ट के तहत कई बार कार्रवाई की जा चुकी है। वहीं, नोएडा पुलिस अनिल दुजाना और उसके गैंग के 8 सदस्यों पर कड़ी कार्रवाई करते हुए 2.39 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी जब्त कर चुकी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.