ख़बरें राज्यों से

माता वैष्णो देवी मंदिर में मची भगदड़, 12 की मौत

श्रीनगर। साल के पहले दिन माता जम्मू कश्मीर में वैष्‍णो देवी मंदिर में बेहद दुखद दुर्घटना हुई है। मंदिर परिसर में मची भगदड़ में 12 लोगों की मौत हो गई है। कई लोग घायल भी बताए जा रहे हैं। हादसे पर प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति ने दुःख व्यक्त किया है।

माता वैष्‍णो देवी के दर्शन के लिए काफी बड़ी संख्‍या में लोग पहुंचे हुए हैं। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि घटना लगभग सुबह 2:45 बजे हुई। दुर्घटना की प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार, लोगों के बीच किसी बात को लेकर बहस हुई जिसके परिणामस्वरूप लोगों ने एक-दूसरे को धक्का दिया और फिर भगदड़ मच गई। कटरा के माता वैष्णो देवी भवन में मची भगदड़ में 12 लोग की मौत और 13 लोग घायल हुए हैं।

वैष्णो देवी मंदिर में हुए भगदड़ में 8 मृतकों की पहचान हो चुकी है। हादसे में अब तक जिनकी मौत हुई उनके नाम धीरज कुमार, स्वेता सिंह, विनय कुमार, सोनू पांडे, ममता, धर्मवीर, विनीत सिंह और अरुण प्रताप सिंह हैं। इन मृतकों में 4 उत्तर प्रदेश के, 2 दिल्ली के और एक-एक हरियाणा और जम्मू कश्मीर के हैं, 4 मृतकों की पहचान अभी नहीं हो पाई है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस दुर्घटना को दुर्भाग्‍यपूर्ण बताया है उन्‍होंने कहा- यह जानकर बहुत दुख हुआ कि माता वैष्णो देवी भवन में एक दुर्भाग्यपूर्ण भगदड़ ने भक्तों की जान ले ली। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि माता वैष्णो देवी भवन में मची भगदड़ में लोगों की मौत से अत्यंत दुखी हूं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह और गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय से बात की और स्थिति का जायज़ा लिया है। इस भगदड़ में जान गंवाने वालों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएंगी और घायलों को 50,000 रुपये दिए जाएंगे।

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल ने भी माता वैष्णो देवी पर हुई भगदड़ को लेकर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि संवेदना और प्रार्थना मृतकरों और घायलों के परिवार के साथ है। मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से बात की है। उन्हें हालात के बारे में पूरी जानकारी दी है। प्रधानमंत्री ने हर तरह की मदद का आश्वासन दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *