अपराधख़बरें राज्यों से

40 लाख हडपने के लिए कर दी अपने ही पिता की हत्या

भरतपुर। राजस्थान के भरतपुर जिले में एक बेटे ने दुर्घटना बीमा के क्लेम का पैसा लेने के लिए दो लोगों के साथ मिलकर अपने पिता की हत्या कर दी। बेटे ने अपने पिता का 3 महीने पहले ही एक्सीडेंटल बीमा करवाया था, जिससे वह अपने पिता की हत्या करवाने के बाद बीमा के 40 लाख रुपये ले सके।

जानकारी के अनुसार हत्या की वारदात का शिकार मृतक मोहकम डीग के सदर थाना इलाके के नगला भधई गांव का रहने वाला था। मोहकम अपने पुत्र राजेश के साथ फरीदाबाद में रहता था। करीब चार महीने पहले राजेश ने अपने पिता मोहकम का चार अलग-अलग बैंकों में 40 लाख रुपये का एक्सीडेंटल बीमा कराया था। उसके बाद उसने इस बीमा का फर्जी क्लेम उठाने की योजना बनाई। इसके लिए मोहकम को गांव लाने का प्लान तैयार किया गया।

राजेश 24 दिसंबर को अपने पिता मोहकम सिंह को लेकर फरीदाबाद से कोसी लेकर पहुंचा। कोसी से गोवर्धन थाना इलाके के छटीकरा गांव में पहुंचा, जहां कान्हा नाम का युवक मोटरसाइकिल से आया और वह मोहकम सिंह और राजेश से मिला। कान्हा दोनों बाप बेटों को अपने साथ ले गया। तीनों ने मिलकर पहले तो शराब पी उसके बाद खाना खाया।

उसके बाद डीग थाना इलाके के दिदावली गांव के पास मौका देखकर साथियों के साथ मिलकर हथौड़े से वारकर पिता की निर्मम तरीके से हत्या कर दी। बाद में शव को सड़क किनारे फेंक दिया ताकि वह एक्सीडेंट की घटना लग सके। वारदात को अंजाम देने के बाद राजेश और उसके साथी शराब के नशे में देर रात तक सड़क पर घूमते रहे। इस दौरान वे रात्रि गश्त कर रही पुलिस के हत्थे चढ़ गए। कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर पुलिस ने तीनों आरोपियों को शांति भंग करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

25 दिसंबर को पुलिस को सुबह साढ़े पांच बजे सूचना मिली की दीदावली पुलिया के पास एक शव सड़क के किनारे पड़ा हुआ है। पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और शव की तलाशी ली तो आधार कार्ड से मृतक की पहचान हो गई। इसके बाद मोहकम सिंह के परिजनों को घटना की सूचना दी गई। परिजनों ने पुलिस को बताया कि मोहकम सिंह के बेटे राजेश ने अपने पिता का एक्सीडेंट बीमा करवाया है। पोस्टमार्टम में पता लगा की मृतक के शरीर पर एक्सीडेंट जैसे कोई निशान नहीं है। मृतक के सिर पर किसी भारी चीज से वार कर उसकी हत्या की गई है।

तीनों ने कबूला अपना जुर्म
दूसरी तरफ राजेश, कान्हा और विजेंद्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर रखा था, तीनों से पूछताछ के दौरान पता लगा कि मोहकम का सिंह का बेटा राजेश है। इसके बाद तीनों से सख्ती से पूछताछ की गई। तीनों ने पहले तो पुलिस को इधर उधर की बातें कर उलझाने की कोशिश की लेकिन जब पुलिस ने कड़ा रुख अपनाया तो तीनों ने पूरा राज पुलिस के सामने खोल दिया। फिलहाल पुलिस तीनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है। विजेंद्र डीग का रहने वाला है और कान्हा मथुरा के खेचरी इलाके का रहने वाला है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *