अंतर्राष्ट्रीय

क्रिसमस और न्यू ईयर पर ओमीक्रोन का साया: WHO चीफ ने चेताया- सेलिब्रेशन बाद में करें

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना के वेरिएंट ओमिक्रोन के तेजी से बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर लोगों से अपनी छुट्टियों की कुछ योजनाओं को रद्द करने की अपील की है ताकि सार्वजनिक स्वास्थ्य की रक्षा की जा सके। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए फिलहाल किसी भी तरह के सेलिब्रेशन को रद्द किया जा सकता है।

जेनेवा में विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ, डॉक्टर टेड्रोस एडनॉम (Tedros Adhanom) ने कहा, ‘एक इवेंट का कैंसिल होना जिंदगी के कैंसिल होने से अच्छा है। यह अच्छा है कि अभी सेलिब्रेशन को कैंसिल करें और बाद में सेलिब्रेट करें।’ उन्होंने कहा, ‘इसमें कोई शंका नहीं है कि छुट्टियों के दौरान अगर सोशल मिक्सिंग बढ़ेंगी तब अलग-अलग देशों में केस बढ़ेंगे।’ उन्होंने कहा कि हम सभी इस महामारी से तंग आ चुके हैं। हम सभी अपने दोस्तों और परिजनों से मिलना चाहते हैं। हम सभी अब नॉर्मल लाइफ जीना चाहते हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने कहा कि हम सभी के लिए जरुरी है कि अभी हम कुछ कठोर फैसले लें। ताकि हम खुद की रक्षा कर सकें।

विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ) ने कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन को लेकर बढ़ती चिंता के बीच स्विट्जरलैंड के दावोस में होने वाली अपनी वार्षिक बैठक को टाल दिया है। डब्ल्यूईएफ ने सोमवार को अपने एक बयान में कहा कि 17-21 जनवरी 2022 के बीच प्रस्तावित दावोस बैठक को अब गर्मियों की शुरुआत में कराने का फैसला किया गया है। यह लगातार दूसरा साल है जब दावोस शिखर बैठक के नियमित आयोजन पर असर पड़ा है। वर्ष 2021 की शुरुआत में भी यह बैठक कोविड-19 महामारी की वजह से नहीं हो पाई थी।

दुनियाभर में लग रहे सख्त प्रतिबंध
डॉक्टर टेड्रोस का ये बयान ऐसे समय आया है जब फ्रांस और जर्मनी सहित कई देशों ने कोविड के प्रतिबंधों को कड़ा कर दिया है और त्योहार के मौसम में यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है। वहीं, नीदरलैंड्स ने क्रिसमस के दौरान देश में सख़्त लॉकडाउन का एलान किया है। वहीं ब्रिटेन लॉकडाउन पर विचार कर रहा है।

ओमिक्रोन के सबसे ज्यादा केस 37,101 यूके में हैं, दूसरे नंबर डेनमार्क है, जहां 15,452 केस हैं। तीसने नंबर पर नॉर्वे है, जहां 3394 फिर साउथ अफ्रीका में 1300 और अमेरिका में 1070 केस हैं। पूरी दुनिया में इस वक्त ओमिक्रोन के 63,790 केस हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.