राष्ट्रीय

सत्यपाल मलिक का विवादित बयान, पीएम मोदी को याद दिलाई इंदिरा गाँधी और जनरल वैद्य की हत्या

नई दिल्ली। किसानों के मुद्दे को लेकर मुखर रहे मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक का एक विवादित बयान वाला वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। सत्यपाल मलिक कहते हैं, ‘आप सिखों को नहीं हरा सकते, अगर आपको लगता है कि किसान प्रदर्शनकारी अपने आप वापस चले जाएँगे तो ये आपकी गलतफहमी है।

सत्यपाल मलिक को ग्लोबल जाट समिट में स्पीकर के तौर पर आमंत्रित किया गया था। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘आप सिखों को नहीं हरा सकते। उनके गुरु के चार बच्चे उनकी मौजूदगी में मारे गए थे, लेकिन उन्होंने आत्मसमर्पण नहीं किया। आप इन जाटों को भी नहीं हरा सकते हैं।’ उन्होंने धमकी देते हुए कहा, ‘अगर आपको लगता है कि किसान प्रदर्शनकारी अपने आप वापस चले जाएँगे, तो ये आपकी गलतफहमी है। उन्हें कुछ दें (उनकी माँगों को स्वीकार करें) और उन्हें जाने दें। लेकिन दो काम मत करो। सबसे पहले उनके खिलाफ बल प्रयोग न करें। दूसरा उन्हें खाली हाथ घर न भेजें, क्योंकि वे (सिख) आसानी से नहीं भूलते, 300 साल बाद भी नहीं भूलते हैं।’

सत्यपाल मलिक ने कहा कि ऑपरेशन ब्लूस्टार के बाद इंदिरा गाँधी को भी उनके आने वाले भाग्य के बारे में पता था। जब इंदिरा ने अकाल तख्त को नष्ट किया, तो उन्होंने अपने फार्महाउस पर ‘महा मृत्युंजय यज्ञ’ किया। अरुण नेहरू मेरे अच्छे दोस्त थे, उन्होंने मुझे इसके बारे में बताया था। उन्होंने इंदिरा गाँधी से कहा था कि आप तो इसे नहीं मानती थीं तो फिर ये सब क्यों रही हैं? इस पर इंदिरा ने अरुण नेहरू से कहा था कि तुझे नहीं पता जिनका अकाल तख्त तोड़ा है, वो तो 600 साल भी नहीं भूलते हैं। मुझे विश्वास है कि ये मुझे मारेंगे। मलिक आगे कहते हैं कि इंदिरा गाँधी इस खतरे को भाँप गई थीं कि वे उन्हें मारेंगे और वही हुआ।

सत्यपाल मलिक ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, ‘जनरल वैद्य को सिक्खों ने पुणे में मारा, जनरल डायर को लंदन में मारा। मैंने इनसे यह भी कहा था कि आप इनके धैर्य की परीक्षा मत लो। आज आप ताकत में हो, घमंड में हो, लेकिन आपको पता नहीं कि इसके नतीजा क्या हो सकते हैं?’

वहीं जब उनके इस बयान पर टाइम्स नाउ नवभारत चैनल पर एंकर सुशांत सिन्हा ने सवाल पूछा तो सत्यपाल मलिक भडक गए। एंकर ने पूछा कि अगर किसानों के साथ गलत हो रहा है तो आपने गवर्नर का पद क्यों नहीं छोड़ दिया? इस सवाल पर मलिक ने कहा कि आपको मेरे साथ इस तरह का व्यवहार नहीं करना चाहिए। मैं गवर्नर का पद क्यों छोड़ दूं, जिसने मुझे गवर्नर बनाया है अगर वह कह दे तो मैं पद छोड़ दूंगा। उन्होंने कहा कि मैंने बिल्कुल उकसाने वाली बात नहीं कही है। अगर लोग समझ रहे हैं तो मैं क्या करू। मैंने नसीहत दी कि बल प्रयोग मत करना। इसके बाद एंकर ने सीधे उनसे इस्तीफे को लेकर जब सवाल किया तो गवर्नर सत्यपाल मलिक ने कहा कि बहुत गलती की मैंने आपको इंटरव्यू देकर। आपको मेरे साथ ऐसा व्यवहार नहीं करना चाहिए।

आगे जब एमएसपी और कृषि कानून की बात आई तो सत्यपाल मलिक ने एंकर के एटिट्यूड पर सवाल उठाते हुए बीच में ही इंटरव्यू को छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि मुझे कहीं जाना है, मैं आपके एटिट्यूड से बहुत खुश नहीं हूं। मैंने आपको गलती से समय दे दिया। इसके बाद उन्होंने अपने स्टाफ से भी कहा कि गलती हो गई, आगे से इसे कभी ना देना, ना बुलाना।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *