मेरा गाज़ियाबाद

गौ तस्करों के खिलाफ कार्रवाई करने वाले एसएचओ के तबादले पर भड़के लोनी विधायक, एसएसपी पर लगाए गंभीर आरोप

गाजियाबाद। लोनी क्षेत्र से भाजपा विधायक ने गौ तस्करी के मामले में आरोपियों पर कार्रवाई करने वाले एसएचओ के तबादले पर नाराजगी जताई है। भाजपा विधायक ने गाजियाबाद के एसएसपी पर गौ तस्करों को संरक्षण देने का आरोप लगाया है।

लोनी बॉर्डर पुलिस ने गुरुवार सुबह गोदाम में पशु कटान करने वालों से मुठभेड़ दिखाई थी। सात तस्करों को गोली मारकर गिरफ्तार किया गया था। सातों तस्करों को गोली एक ही स्थान पर घुटने के नीचे लगी थी। पुलिस ने 13 राउंड फायर किए थे। तस्करों ने सात राउंड फायर किए लेकिन एक भी गोली पुलिसवालों को नहीं लगी। उधर, इस मुठभेड़ पर सवाल उठे तो पुलिस की किरकिरी हुई। वहीं, मुठभड़ के बाद लोनी विधायक विधायक नंदकिशोर गुर्जर और हिंदू संगठनों द्वारा सम्मानित किया गया।

इसके बाद एसएसपी पवन कुमार ने उन्हें शनिवार को लोनी बॉर्डर थाना प्रभारी के पद से हटाकर इंदिरापुरम थाना का निरीक्षक अपराध बनाया था। लेकिन एसएसपी के आदेश पर वह इंदिरापुरम थाना में ज्वाइन करने नहीं गए। उन्होंने रात दस बजे जीडी में तस्करा डाला और घर के लिए रवाना हो गए। उनका कहना है कि अब उनका नौकरी करने का मन नहीं है। लिहाजा तीन माह की छुट्टी लिखकर जा रहा हूं। अधिकारी छुट्टी स्वीकृत करें तो ठीक है, नहीं तो उनकी मर्जी।

इंस्पेक्टर का कहना है कि मुठभेड़ के बाद लोनी के भाजपा विधायक नंद किशोर गुर्जर व हिंदू संगठनों द्वारा उनका सम्मान करने के कारण उन्हें थाने से हटाया गया है। उन्होंने सम्मान करने के लिए किसी को नहीं बुलाया था। लोग खुद थाने आए थे। अफसरों को इसमें कुछ गलत लगा तो पहले जांच कराते, फिर कार्रवाई करते। उन्होंने लोगों से कहा था कि वह उनका नहीं, एसएसपी का सम्मान करें, लेकिन लोग नहीं माने। जब मनोबल ही गिर गया है तो ड्यूटी कैसे ज्वाइन कर सकते हैं? इसलिए मना कर दिया।

एसएसपी ने 26 सितंबर को उन्हें लोनी बॉर्डर थाने का एसएचओ बनाया था। वहीं अब एसएसपी का कहना है कि रवानगी करने के बाद इंस्पेक्टर के ड्यूटी ज्वाइन न करने की सूचना मिली है। अगर वह गैरहाजिर होतेे हैं तो अनुशासनहीनता के आरोप में रिपोर्ट लेकर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। नौकरी करने का मन न होने को इस्तीफे के रूप में जोड़कर नहीं देखा जा सकता। अगर वह इस संबंध में कुछ लिखकर देंगे तो उसके मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। अगर तबादला होने से उनका मनोबल गिरा है तो वह अपना मनोबल ऊंचा रखें, क्योंकि ट्रांसफर एक प्राशासनिक प्रक्रिया है। इंस्पेक्टर ड्यूटी ज्वाइन करें और अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करें।

विधायक ने लगाए एसएसपी पर गंभीर आरोप
राजेंद्र त्यागी के तबादले के बाद लोनी विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने उत्तर प्रदेश सरकार के अपर मुख्य सचिव गृह विभाग को इस संबंध में पत्र भी लिखा है। साथ ही गाजियाबाद के एसएसपी को पत्र लिख राजेंद्र त्यागी को फिर से लोनी थाने का एसएचओ बनाने की मांग की है। उन्होंने एसएसपी पर गौ तस्करों को संरक्षण देने का आरोप लगाया है। नंदकिशोर गुर्जर ने कहा है कि एसएसपी के इस कृत्य से प्रदेश सरकार की मंशा के अधिकारी व पुलिसकर्मी जो गौतस्करों और अपराधियों से लड़ने का कार्य करते है, उनका मनोबल गिरा है और गौतस्करों व अपराधियों का हौंसला बढ़ा है। साथ ही जनता में भारी रोष है।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *