मेरा गाज़ियाबाद

आजादी पर दिए विवादित बयान के बाद कंगना के खिलाफ गाजियाबाद पुलिस में शिकायत

गाजियाबाद। कंगना रनौत एक बार फिर सुखिर्यों में हैं। लेकिन हर बार की तरह वजह कोई फिल्म नहीं बल्कि भारत की स्वतंत्रता को लेकर उनका एक बयान है। इस मामले में आम आदमी पार्टी ने अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। साथ ही, आप की प्रदेश प्रवक्ता तरुणिमा श्रीवास्तव ने अपने कई कार्यकर्ताओं के साथ शुक्रवार को कविनगर पुलिस को कंगना रनौत पर रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिये शिकायत भी दे दी है।

तरुणिमा श्रीवास्तव मुताबिक अभिनेत्री कंगना रनौत ने भारत की स्वतंत्रता के संदर्भ में आपत्तिजनक टिप्पणी की है, उनकी पार्टी उस बयान की निंदा करती है और केंद्र सरकार से यह मांग भी करती है कि कंगना रनौत को दिया अवार्ड पद्मश्री सम्मान भी तुरंत वापस लेकर उन पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा भी चलाया जाए।

तरुणिमा श्रीवास्तव रोष प्रगट करते हुए कहा कि कंगना पहले भी उटपटांग बयानबाजी करती रही हैं, लेकिन सरकार उस पर ठोक कार्रवाई नहीं कर रही है बल्कि कंगना को उच्च श्रेणी की सुरक्षा प्रदान की गई है। तरुणिमा ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, सुभाष चन्द्र बोस, लाल लाजपत राय, भगत सिंह जैसे असंख्य देशभक्तों ने यह आजादी दिलाई है। कंगना के बयान से देश की आजादी के लिए अपना प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों का अपमान हुआ है।

कंगना ने क्या कहा जिस पर विवाद
एक राष्ट्रीय मीडिया नेटवर्क के वार्षिक शिखर समिट में कंगना गेस्ट स्पीकर थीं। इस दौरान उन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम के बारे में सावरकर, लक्ष्मीबाई और नेताजी बोस को याद करते हुए कहा था- ये लोग जानते थे कि खून बहेगा, लेकिन यह हिंदुस्तानी खून नहीं होना चाहिए। वे इसे जानते थे। बेशक, उन्हें एक पुरस्कार दिया जाना चाहिए। वह आजादी नहीं थी, वो भीख थी। हमें 2014 में असली आजादी मिली है।

आपका साथ– इन खबरों के बारे आपकी क्या राय है। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं। शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें। हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें। हमसे ट्विटर पर जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक कीजिए।

हमारा गाजियाबाद के व्हाट्सअप ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *