एनसीआरख़बरें राज्यों सेगाज़ियाबाद के गुनहगारनागरिक मुद्देमेरा गाज़ियाबाद

बकाएदारों पर बिजली विभाग हुआ सख्त, 29 हज़ार उपभोक्ताओं पर हैं ₹269 करोड़ बकाया

गाज़ियाबाद जिले के करीब 29 हजार उपभोक्ता विद्युत बिल का 269 करोड़ रुपया नहीं दे रहे हैं। पश्चिमाञ्चल विद्युत वितरण निगम के मुताबिक मोदीनगर व मुरादनगर में सबसे अधिक बकायेदार हैं। यह वह उपभोक्ता हैं, जिन पर विभाग का 10 हजार से अधिक का बकाया है। विभाग ने अब सख्ती के साथ बकाया वसूलने की तैयारी की है।

विद्युत निगम ने 10 हजार रुपये से अधिक बकाया वाले उपभोक्ताओं की पहचान कर उनकी सूची तैयार की है। विभाग के अनुसार जिले में ऐसे उपभोक्ताओं की संख्या करीब 29 हजार से अधिक है, जिन पर विभाग का करीब 289 करोड़ रुपया बकाया है। इनमें लोनी डिवीजन के सर्वाधिक 14,437 उपभोक्ता हैं, जिन पर 5885.03 लाख रुपया बकाया है। वहीं, मोदीनगर के 2167 उपभोक्ताओं पर जहां 9982.19 लाख रुपया बकाया है तो मोदीनगर के 1731 उपभोक्ताओं पर 2390.59 लाख रुपया नहीं चुकाया है। इसके अलावा डिवीजन-2 गाजियाबाद के वैशाली, वसुंधरा, महाराजपुर, शालीमार गार्डन के 4438 उपभोक्ताओं पर 2243.95 लाख रुपया, डिवीजन-3 के नेहरु नगर, गांधी नगर, राकेश मार्ग के 1546 विद्युत उपभोक्ताओं ने 2662.20 लाख रुपया नहीं दिया है।

इन सभी उपभोक्ताओं से वसूली के लिए विद्युत निगम की ओर से कई बार प्रयास करने के बावजूद बकाया चुकाने को तैयार नहीं है। इनके खिलाफ अब विभाग की ओर से विभागीय स्तर पर सख्ती के साथ वसूली की योजना तैयार की है। ऐसे उपभोक्ताओं के घरों पर चेकिग सख्त करने वसूली तेज की जाएगी, जिसके लिए 15 अगस्त के बाद अभियान चलाया जाएगा। चीफ इंजीनियर आरके राणा ने बताया कि वसूली के लिए सभी डिवीजनल अधिकारियों को लक्ष्य निर्धारित कर दिया गया है। अगस्त माह में अधिकांश बकायेदारों से वसूली कर ली जाएगी।

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

#BreakingNews, #Ghaziabad, #HamaraGhaziabad, #VishalPandit, #indian, #india, #follow, #instagram, #NewIndia, #Article370, #JammuKashmirWithIndia

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.