इवेंट्समेरा गाज़ियाबादशिक्षा

मेवाड़ के छात्रों ने ली जल संरक्षण की शपथ

गाज़ियाबाद। वसुंधरा स्थित मेवाड़ ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस और जिला प्रशासन ने संयुक्त रूप से ‘जल संचयन व संरक्षण’ विषय पर जनचेतना कार्यशाला आयोजित की। मेवाड़ आडिटोरियम में आयोजित इस कार्यशाला में छात्रों ने जल संकट, जल संचयन व उसके संरक्षण पर प्रकाश डाला। विषय से संबंधितित प्रश्नोत्तर सत्र में छात्रों ने बहुत रुचि दिखाई। कार्यशाला में छात्रों को जल संचयन व संरक्षण की शपथ भी दिलाई गई। कार्यशाला का सफल संचालन पूनम शर्मा ने किया।

सह जिला विद्यालय निरीक्षक ज्योति दीक्षित ने बताया कि भारत के पास दुनिया में मौजूद पानी का केवल पांच प्रतिशत हिस्सा ही है। इसमें से तीन प्रतिशत भाग ही पीने योग्य है। लगातार पीने के पानी का संकट गहराता रहा है। इसके प्रति नई पीढ़ी को जागरूक होना होगा और अपने आसपास के क्षेत्रों के लोगों में भी जल चेतना लानी होगी। मेवाड़ ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस की निदेशिका डाॅ. अलका अग्रवाल ने कहा कि दिल्ली-एनसीआर में आज स्वच्छ पानी व्यर्थ बहाया जा रहा है। पक्के फर्श होने के कारण पानी जमीन के अंदर नहीं जा रहा है, जो पानी जमीन के पेट में डाला जा रहा है, वह बहुत प्रदूषित और पीने योग्य नहीं है। इस प्रदूषित जल से गंभीर बीमारियां पैदा हो रही हैं। पीने का साफ पानी रिसकर रखना मुश्किल हो गया है। समय की मांग है कि पानी बचाया जाये। विद्यार्थी इसके लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

कार्यशाला में अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी रजनीश पांडेय, जिला प्रोबेशन अधिकारी विकास चंद्र, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी राजेश श्रीवास, पंचायती राज विभाग के जिला कंसलटेंट मोहम्मद फारुख, जिला परियोजना निदेशक अनिल कुमार त्रिपाठी आदि ने अपने विचार व्यक्त किये। आभार व्यक्त करते हुए मेवाड़ ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस के चेयरमैन डाॅ. अशोक कुमार गदिया ने सभी विद्यार्थियों को जल संचयन व संरक्षण की शपथ दिलाई। उन्होंने कहा कि विश्व भर में पेयजल की कमी एक संकट बनती जा रही है। इसका कारण पृथ्वी के जलस्तर का लगातार नीचे जाना भी है। इसके लिये अधिशेष मानसून अपवाह जो बहकर सागर में मिल जाता है, उसका संचयन और पुनर्भरण किया जाना आवश्यक है, ताकि भूजल संसाधनों का संवर्द्धन हो पाये। कार्यशाला में रिमझिम भटनागर, रितिका, रिमली, कार्तिकी आदि छात्राओं ने जल संचयन पर प्रकाश डाला।

 

 

व्हाट्सएप के माध्यम से हमारी खबरें प्राप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

हमारा न्यूज़ चैनल सबस्क्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Follow us on Facebook http://facebook.com/HamaraGhaziabad
Follow us on Twitter http://twitter.com/HamaraGhaziabad

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *